पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पीलीभीत:अवैध शराब के कारोबारी को पकड़ने पहुंची पुलिस को गांव वालों ने खदेड़ा; झोपड़ी में लगाई आग, 33 पर एफआईआर

पीलीभीतएक महीने पहले
यह तस्वीर पीलीभीत की है। अग्निकांड से जलकर राख हुई झोपड़ी।
  • पूरनपुर के सुआबोझ गांव का मामला
  • एसपी बोले- आरोपियों पर गैंगस्टर लगेगा
No ad for you

कानपुर के बिकरु गांव में अपने 8 साथियों की जान गंवाने के बाद भी पुलिस ने सबक नहीं लिया है। इसकी बानगी बुधवार रात पीलीभीत जिले के पूरनपुर में देखने को मिली। यहां सुआबोझ गांव में एक अवैध शराब कारोबारी के यहां सादा कपड़ों में दो सिपाहियों ने दबिश दी। जिसका मां-बेटे ने विरोध किया तो सिपाहियों ने उनकी पिटाई कर दी। जैसे ही अन्य ग्रामीणों को पता चला तो सभी लामबंद हो गए। गांव वालों ने लाठी-डंडा लेकर सिपाहियों को खदेड़ लिया। पुलिस वालों को अपनी जान बचाकर भागना पड़ा है। ग्रामीणों द्वारा अपनी झोपड़ियों में आग भी लगा दी गई। इस मामले में पुलिस ने 8 नामजद और 25 अज्ञात पर केस दर्ज किया है। 

पुलिस को सूचना मिली कि सुआबोझ गांव निवासी महेंद्र के यहां अवैध शराब बन रही है। दो सिपाही आरोपियों को पकड़ने के लिए महेंद्र घर पहुंचे। जहां खाना खा रहे मां-बेटे ने विरोध किया तो पुलिसकर्मियों ने उनकी पिटाई कर दी। घर में तलाशी लेने के दौरान पुलिसकर्मियों ने तोड़फोड़ भी की। मामले की जैसे ही भनक अन्य लोगों को लगी तो तमाम लोग मौके पर पहुंच गए। लोगों ने पुलिसकर्मियों से झड़प की। इसके बाद ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों को खदेड़ लिया।

मौके की नजाकत भांपकर पुलिसकर्मी अपनी बाइक छोड़कर गांव से भाग खड़े हुए। गांव के बाहर आकर मामले की सूचना कोतवाल को दी गई। इस पर फोर्स गांव पहुंच गई। गांव पहुंचने के बाद पुलिसकर्मियों ने ग्रामीणों को पीटना शुरू कर दिया। लेकिन, इससे गांव वालों का गुस्सा बढ़ गया। ग्रामीणों ने इसी दौरान महेंद्र के फूस के घर में आग लगा दी। हालांकि, ग्रामीणों का आरोप है कि, पुलिस वालों ने आग लगाई है। 

पुलिस अधीक्षक जय प्रकाश का कहना है कि गांव में अवैध शराब बनती है। पुलिस दबिश देने पहुंची तो झड़प की गई। 8 नामजद और 25 अज्ञात पर केस दर्ज किया गया है। सब पर गुंडा एक्ट और गैंगस्टर की कार्रवाई की जाएगी। कोई भी अपराधी जो अपराध करता है या कच्ची शराब बनाने का काम करता है उसे बख्शा नही जाएगा।

No ad for you

उत्तरप्रदेश की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved