पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
Loading advertisement...

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्वास्थ्य कर्मियों के साथ संवाद:कोरोना टीकाकरण में शामिल पांच फ्रंट लाइन वर्कर्स से PM मोदी ने की बात, कहा- वैक्सीन के मामले में देश पूरी तरह से आत्मनिर्भर

वाराणसीएक महीने पहले
PM मोदी VC के जरिये तीन केंद्रों जिला अस्पताल, जिला महिला अस्पताल और सामुदायिक केंद्र के 6 लोगों से संवाद किया।
  • 16 जनवरी को 393 स्वास्थ्यकर्मियों को लगा था टीका
  • 18 हजार स्वास्थ्यकर्मियों की सूची कोविन पोर्टल पर अपलोड
Loading advertisement...
Open Dainik Bhaskar in...
Browser

देश व्‍यापी कोरोना वैक्‍सीनेशन को लेकर चल रहे अभियान के बीच टीकाकरण सत्र के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के तीन केंद्रों पर पांच लोगों से वर्चुअल संवाद किया। वहीं पीएम ने कहा कि दुनिया में सबसे बड़ा टीकाकरण कार्यक्रम हमारे देश में चल रहा है। आज, राष्ट्र के पास अपने स्वयं के टीके का निर्माण करने की इच्छाशक्ति है-एक नहीं बल्कि दो मेड इन इंडिया टीके उपलब्‍ध हैं। देश के हर कोने में टीके आज पहुंच रहे हैं। भारत इस मामले में पूरी तरह आत्मनिर्भर है।

इनमें महिला अस्पताल में मैट्रन पुष्पा देवी और वैक्सिनेटर रानी कुंवर श्रीवास्तव, पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ बी शुक्ला, चिकित्सालय के ही लैब टेक्नीशियन रमेश चंद्र राय, सेवापुरी हाथी बाजार स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की एएनएम श्रृंखला चौहान संवाद में शामिल रहे।

ऐसे समय में आपके पास आना चाहिए था लेकिन नहीं आ पाया

पीएम ने कहा कि आप सबका अभिनंदन करता हूं, ऐसे समय में आपके बीच होना चाहिए था, मगर कुछ ऐसे हालात बन गए हैं कि वर्चुअली मिलना पड़ रहा है। कोरोना वायरस की तैयारियों और अमलीजामा पहनाने के लिए चल रही तैयारियों का जायजा लेने के लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया गया है।

पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय चिकित्सालय के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ बी शुक्ला, चिकित्सालय के ही लैब टेक्नीशियन रमेश चंद्र राय PM मोदी से संवाद करते हुए।

इसके बाद पीएम ने महिला अस्पताल की मैट्रन पुष्‍पा देवी से बातचीत की। बातचीत के दौरान डॉ. वी. शुक्ला ने बताया कि टीके को लेकर सभी उत्साहित हैं। हमें गर्व है कि भारत ने स्वदेशी कोविड वैक्सीन बनाने में विकसित देशों को भी पीछे छोड़ दिया है। वैक्‍सीन लगाने के फायदे और नुकसान को लेकर भी सभी छह स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों से परिचर्चा की गई।

तीन हजार स्वास्थ्य कर्मियों को लगेगा टीका

जिले में शुक्रवार को 15 केंद्रों पर 3 हजार स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगेगा। प्रधानमंत्री ने डॉक्टर शुक्ला से पहले चरण के कोरोना वैक्सीनेशन हेतु कंपटीशन चलाए जाने की अपील करते हुए कहा कि ताकि सभी फ्रंटलाइन वर्करों का जल्द से जल्द टीकाकरण हो सके। इसके बाद दूसरे चरण में 50 साल से अधिक उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन कराया जाएगा।

Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...