पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
Loading advertisement...

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सर्दी का सितम:वाराणसी में सर्द हवाओं ने गलन और कोहरे को बढ़ाया, 20 जनवरी तक ठंड के और बढ़ने के आसार

वाराणसीएक महीने पहले
गंगा घाटों पर स्थानीय और पर्यटकों को मायूस होना पड़ रहा है। सुबह-ए-बनारस का दृश्य देखने पहुंचे लोगो को भगवान सूर्य ने दर्शन नही दिया।
  • गंगा के किनारे वाले इलाकों में सतह पर एक किमी की रफ्तार से हवा चल रही है
  • कोहरे की वजह से वातावरण में नमी 78 से 84 फीसदी तक बनी हुई है
Loading advertisement...
Open Dainik Bhaskar in...
Browser

पश्चिम की ओर से आने वाली हवाओं ने रुख बदल कर पूरब की ओर कर लिया है। अधिकतम तापमान 18.2 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 10.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। तापमान में बढ़ोतरी के साथ गलन और ठिठुरन काफी बढ़ गई है। मौसम वैज्ञानिकों का मानना है कि 20 जनवरी तक ठंड के बढ़ने के आसार हैं।

अगले दो दिनों में गलन और बढ़ेगा

मौसम वैज्ञानिक पूर्व प्रोफेसर एसएन पांडेय ने बताया अगले दो दिनों में गलन और बढ़ जाएगी। कोहरे की चादर की वजह से शीतलहर दिन में भी महसूस होगी। वातावरण में 78 से 84 फीसदी तक नहीं बनी रहेगी। शाम होते गलन में इजाफा हो जायेगा। धूप निकलने के बाद भी ठिठुरन बना रहेगा।

सतह पर एक किमी की रफ्तार से हवा चल रही है

नमी और घने कोहरे के कारण हवाओं के गति का पता नहीं चल पाता। गंगा के मैदानी इलाकों में इसका प्रभाव देखा जा सकता है। आसमान साफ न होने के कारण सुबह का सूर्योदय लोग घाटों पर नहीं देख पा रहे हैं। बलिया से घूमने पहुंचे रवि मल्होत्रा ने बताया दो दिनों से आ रहा हूं, सुबह-ए-बनारस नहीं देख पाया।

Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...