Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

साईं समाधि के 100 साल/ पिछली सरकार ने 4 साल में 25 लाख घर बनाए और हमने सवा करोड़ : मोदी

शिरडी साईं मंदिर में प्रार्थना करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

  • शताब्दी समारोह में 20 देशों के 10 लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया
  • अक्टूबर 1918 में साईं बाबा ने शिरडी में समाधि ली थी, 1922 में साईं बाबा मंदिर ट्रस्ट बना
  • 96 साल में ट्रस्ट की सालाना आय 3200 रुपए से बढ़कर 371 करोड़ रुपए हो गई

Dainik Bhaskar

Oct 19, 2018, 03:06 PM IST

पुणे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को साईं समाधि शताब्दी समारोह में शामिल होने के लिए शिरडी आए। उन्होंने साईं बाबा की आरती में हिस्सा लिया। मोदी ने 475 करोड़ रुपए के विकास कार्यों की नींव रखी। इस मौके पर उन्होंने आवास योजना के लाभार्थियों को घर की चाबियां भी बांटीं। मोदी ने कहा कि बीते चार सालों में आम आदमी को झुग्गी से, किराए के घर से निकालने के लिए हम प्रयास कर चुके हैं। पहले भी ऐसी कोशिशें हुईं। लेकिन तब सरकार का मकसद सिर्फ एक परिवार के नाम का प्रचार और वोट बैंक था। पिछली सरकार ने 4 साल में 25 लाख घर बनाए और हमने एक करोड़ 25 लाख।

 

ये भी पढ़ें

शिरडी में रोज ढाई हजार किलो फूल चढ़ते हैं; पहले कूड़े में फेंकते थे, अब सुखाकर अगरबत्ती बना रहे

 

 

साईं बाबा का दर्शन उत्साह देता है
मोदी ने कहा, "मैं जब भी साईं बाबा के दर्शन करता हूं तो करोड़ों श्रद्धालुओं की तरह मुझे भी नया उत्साह मिलता है। शिरडी के कण-कण में साईं की शिक्षा बसी है। भाइयों साईं का मंत्र है- सबका मालिक एक। साई समाज के थे और समाज साईं का था। साईं ने समाज सेवा के कुछ रास्ते दिखाए थे। मुझे खुशी है कि साईं बाबा ट्रस्ट उन्हीं के दिखाए रास्ते पर काम कर रहा है।''

 

योजनाओं के शिलान्यास के लिए सबसे अच्छी जगह
मोदी ने कहा, "आज इस धरती पर आस्था, अध्यातम और विकास के कई प्रोजेक्ट्स की शुरूआत हुई। गरीबों के लिए योजनाओं के शिलान्यास के लिए इससे अच्छी कोई जगह नहीं हो सकती। आज कन्या विद्यालय की नींव रखी जा रही है। साईं नॉलेज पार्क से लोगों को साईं की सीख समझने में आसानी होगी। यहां 10 मेगॉवाट के सोलर पावर प्लांट का भी उद्घाटन हुआ है।'' 

 

लोगों को घर देना मेरा सौभाग्य
शिरडी में मोदी ने कहा, "नवरात्र से लेकर दीपावली तक लोग गाड़ी गहनों जैसे कई सामान की खरीदी करते हैं। जिसका जैसा सामर्थ्य होता है, वह वैसा ही सामान खरीदकर खुशी देता है। मुझे खुशी है कि मुझे 2.5 लाख लोगों को घर सौंपने का मौका मिला। यह गरीबी पर जीत की तरफ बहुत बड़ा कदम है। हम 2022 तक गरीब बेघर परिवार को उसका अपना घर देने का लक्ष्य लेकर हम काम कर हरहे हैं। आधा रास्ता हम कम समय में पार कर चुके हैं। पहले की सरकार में एक मकान बनाने में 18 महीने लगता था। इस सरकार में 12 महीने से भी कम समय में एक घर पूरा हो जाता है। घर बनाने में सरकारी मदद को 70 हजार से बढ़ाकर 1 लाख 20 हजार रुपए कर दिया गया है। पैसा सीधे बैंक खाते में जा रहा है।''

 

मोदी से मिलने जा रही कार्यकर्ता को हिरासत में लिया गया

महाराष्ट्र पुलिस ने सुबह महिला अधिकार कार्यकर्ता तृप्ति देसाई को हिरासत में ले लिया। उन्होंने केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के मुद्दे पर मोदी से मिलने की इच्छा जताई थी। पुलिस को लिखी चिट्ठी में धमकी दी थी कि अगर उन्हें प्रधानमंत्री से नहीं मिलने दिया तो वे उनका काफिला रोक देंगी।तृप्ति देसाई शिंगणापुर के शनि मंदिर समेत अन्य धार्मिक स्थलों पर महिलाओं को उनका हक दिलाने के लिए आंदोलन कर चुकी हैं। उन्होंने कहा कि हम विजयादशमी के मौके पर हम लोग शिरडी जा रहे थे। पुलिस पहले ही मेरे घर के आसपास मौजूद थी। उन्होंने हमें आगे नहीं बढ़ने दिया। विरोध करना हमारा संवैधानिक अधिकार है। यह नरेंद्र मोदी के द्वारा हमारी आवाज दबाने की कोशिश है।

 

साईं ने 1918 में ली थी समाधि

साईं बाबा की समाधि के 100 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में शिरडी में 17 से 19 अक्टूबर तक साई दरबार सजाया गया। 15 अक्टूबर 1918 को बाबा ने शिरडी में समाधि ली थी। इस दरबार में 30 राज्यों और 20 देशों के 10 लाख से ज्यादा श्रद्धालु शामिल होंगे। समारोह से पहले ही यहां के 750 होटल और शिरडी संस्थान के 1500 कमरे बुक हो चुके हैं।

 

96 साल में ट्रस्ट की आय 11 लाख गुना बढ़ी 
शिरडी संस्थान के सीईओ रूबल अग्रवाल ने बताया कि 1922 में साईं बाबा मंदिर को ट्रस्ट के रूप में रजिस्टर किया गया। उस समय ट्रस्ट की सालाना आय लगभग 3200 रुपए थी। आज ट्रस्ट की आय 371 करोड़ रुपए हो गई है।

 

रसोई में एक लाख लोगों के भोजन का इंतजाम
श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिहाज से हर कोने पर सीसीटीवी कैमरे, डॉग स्क्वॉड, एक हजार से ज्यादा पुलिस फोर्स और संस्थान के ही 500 से ज्यादा सेवक व्यवस्था में शामिल हैं। करीब एक लाख श्रद्धालु के लिए रसोई में भोजन की व्यवस्था की गई। भाेजन परोसने के लिए एक हजार सेवकों ने तीन शिफ्ट में सेवाएं दीं। पूरा मंदिर परिसर 35 लाख खर्च कर फल और फूलों से सजाया जाएगा। इसके लिए साढ़े सात टन फूल मंगवाए गए।

मोदी के दौरे पर शिरडी मंदिर को 35 लाख रुपए के फूलों से सजाया गया।
प्रधानमंत्री को शिरडी साईं ट्रस्ट की तरफ से स्मृतिचिन्ह दिया गया।
पुणे में पुलिस ने तृप्ति देसाई को हिरासत में लिया।
शिरडी साईं बाबा मंदिर की यह फोटो 1920 में ली गई थी।
Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें