Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

भाजपा महाकुंभ/ मोदी ने कहा- कांग्रेस देश में सफल नहीं हो रही, इसलिए भारत के बाहर गठबंधन खोज रही

मोदी ने कहा ये हमारा सौभाग्य है कि हम वो लोग हैं, जिन्हें गांधी, लोहिया और दीनदयाल सब स्वीकार हैं।

  • अमित शाह ने कहा- राहुल गांधी मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान में सरकार बनाने का सपना देख रहे, लेकिन यह पूरा नहीं होगा
  • शिवराज ने कहा कि कांग्रेस तय नहीं कर पा रही कि मध्यप्रदेश में वह किसके नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी
  • दावा था- 10 लाख कार्यकर्ता आएंगे, भाजपा ने कहा- 6.5 लाख आए; पुलिस का आकलन- 3 से 4 लाख पहुंचे

Dainik Bhaskar

Sep 25, 2018, 05:45 PM IST

भोपाल.  भाजपा के कार्यकर्ता महाकुंभ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो विदेशी नेताओं के बयानों की ओर इशारा करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा- उनकी पार्टी हिंदुस्तान में गठबंधन करने में सफल नहीं हो रही, इसलिए भारत के बाहर गठबंधन खोज रही है। दुनिया के देश अब तय करेंगे कि भारत में प्रधानमंत्री कौन होगा? कांग्रेस पार्टी, क्या हाल हो गया है आपका? क्या सत्ता खोने के बाद संतुलन भी खो दिया? कांग्रेस का गठबंधन देश की भलाई के लिए नहीं, पराजय के डर से पैदा हुआ है। कांग्रेस आज हर छोटे दल के पैर पकड़ रही है। 

 

मोदी काAdvertisement इशारा दो विदेशी नेताओं के हाल ही के बयानों पर था। एक बयान पाकिस्तान के पूर्व गृह मंत्री रहमान मलिक का है। मलिक ने राफेल घोटाले का खुलासा करने का श्रेय राहुल को दिया और कहा कि वे अगले प्रधानमंत्री बनने वाले हैं। दूसरा बयान फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांसुआ ओलांद का है। आेलांद ने कहा था- भारत ने उन्हें राफेल डील का स्थानीय साझेदार चुनने के लिए अनिल अंबानी की कंपनी के सिवाय कोई विकल्प नहीं दिया था। ओलांद के बयान के बाद राहुल मोदी पर घोटाले का आरोप लगा रहे हैं और उन्हें चोर कह रहे हैं।

 

 

65 हजार बूथों से कार्यकर्ता आए: भाजपा ने इसे दुनिया के सबसे बड़े कार्यकर्ता सम्मेलन के तौर पर प्रचारित किया। इसमें प्रदेश के 65 हजार बूथों से 10 लाख से ज्यादा कार्यकर्ताओं के पहुंचने का दावा किया गया था। कार्यक्रम के दौरान भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राहुल कोठारी ने 6.5 लाख कार्यकर्ताओं केAdvertisement पहुंचने की बात कही। हालांकि, पुलिस सूत्रों ने भास्कर को बताया कि इस सम्मेलन में तीन से चार लाख भाजपा कार्यकर्ता आए। 

 

कांग्रेस को अहंकारी कहा : मोदी ने कहा- कांग्रेसवालों आप इस पर विचार करो कि हमने चुनाव हारने के बाद ईवीएम मशीन को गाली देकर अपना पल्ला नहीं झाड़ा। आप 440 से 44 हो गए, लेकिन आत्मचिंतन करने को तैयार नहीं। अहंकार है कि गद्दियां रिजर्व हैं। इन पर चायवाला, गरीब मां का बेटा शिवराज, गरीब मां का बेटा योगी नहीं बैठ सकता। खानदानी हक है, जिनका वही बैठ सकते हैं। लोकतंत्र में ये आपको मंजूर है क्या?

 

कांग्रेस मुझे भरपूर कोसतीAdvertisement है : मोदी ने कहा, "आपने (कांग्रेस) ने पूरी ताकत लगा दी मुझे गालियां देने में। डिक्शनरी की कोई गाली नहीं है जो आपने मेरे लिए उपयोग न की हो। आपके एडवाइजर से पूछ लीजिए आपने जितना कीचड़ उछाला है, कमल उतना ही खिला है।"
 

मुझे सेवा का अवसर चाहिए भाइयों : मोदी ने कहा, "कौन लोग थे, जिन्होंने मध्यप्रदेश को बीमारू राज्य की सूची में डालने के लिए काले कारनामे किए थे? कितनी मेहनत लगी मध्यप्रदेश को विकासशील राज्य बनाने में। केंद्र में अब ऐसी सरकार बैठी है, जो राज्यों को आगे बढ़ाने में विश्वास करती है। मुझे सेवा का अवसर चाहिए भाइयों। शिवराज जी ने गति दी है, दिल्ली में हमें जितना अवसर दिया, हमने साथ और सहयोग दिया। अब मौका है नई छलांग लगाने का।"

 

शाह ने कहा- राहुल गांधी सपना देख रहे हैं : इससे पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा, "राहुल गांधी कहीं बोल रहे थे कि मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनेगी। आपको स्वप्न देखने की आजादी है। लेकिन, किस आधार पर आप सरकार बनाएंगे? मौनी बाबा मनमोहन के समय में कमजोर नीतियों वाली सरकार बनाई। अर्थव्यवस्था का आपने बंटाधार कर दिया था। भाजपा सरकार से पहले 10 साल तक मध्यप्रदेश में श्रीमान बंटाधार का शासन था। मध्यप्रदेश को बीमारू राज्य बनाकर छोड़ दिया था।"

 

शिवराज ने कहा- राहुल फन मशीन : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा- राहुल गांधी मुझे घोषणा मशीन कहते हैं। राहुल गांधी तो फन मशीन हैं। घोषणा वह करता है, जिसके मन में संकल्प हो मध्यप्रदेश को नंबर वन राज्य बनाने का। 2003 से पहले मध्यप्रदेश में सड़कें नहीं थीं। आज राज्य में विश्वस्तरीय सड़कें बनाई हैं। सिंचाई की बेहतर व्यवस्था की घोषणा की है। 40 लाख हेक्टेयर तक सिंचाई पहुंचा देंगे। नर्मदा का पानी क्षिप्रा में लाने की घोषणा की थी और हम ले आए। 

 

ट्रैफिक रोका गया : हबीबगंज रेलवे स्टेशन पर बाहर से आए कार्यकर्ताओं को महाकुंभ में ले जाने के लिए करीब 100 बसें लगाई गईं। यहां कार्यकर्ताओं की भीड़ को देखते हुए ट्रैफिक रोक दिया गया। राजधानी के मुख्य रेलवे स्टेशन से भी कार्यकर्ताओं को यहां लाने के लिए 150 बसों को इंतजाम किया गया। 

 

 

महाकुंभ से पहले भाजपा नेताओं के पोस्टरों पर पोती कालिख : सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजामों के बावजूद मोदी और अमित शाह समेत भाजपा नेताओं के पोस्टरों पर किसी ने कालिख पोत दी। आनन-फानन में इनकी जगह नए पोस्टर लगाए गए। 

 

 

महाकुंभ में काले कपड़े पहनकर जाने पर रोक : महाकुंभ में काले कपड़े पहनकर और काले बैग लेकर आने वालों को पुलिस ने रोक दिया। कार्यक्रम स्थल पर काले कपड़ों और बैगों का ढेर लग गया।

 

आडवाणी के सिर्फ दो कटआउट : शहर में पहले पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के कटआउट नहीं लगाए गए थे, लेकिन कार्यक्रम से एक रात पहले कुछ जगहों पर उनके पास्टर भी लगा दिए गए। उधर भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष लालकृष्ण आडवाणी के सिर्फ दो पोस्टर सभास्थल पर नजर आए। मोदी, शाह, शिवराज और राकेश सिंह के बाद सबसे ज्यादा कटआउट राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा के दिखे। नरेंद्र सिंह तोमर और कैलाश विजयवर्गीय के पोस्टर झा के मुकाबले कम दिखे। उधर मुख्य मार्गों से लेकर आयोजन स्थल तक कहीं भी भाजपा नेता प्रहलाद पटेल का एक भी कटआउट नहीं था। सोमवार शाम उन्होंने अपने कटआउट लगवाए।

एयरपोर्ट पर मोदी का अमित शाह और शिवराज सिंह चौहान ने स्वागत किया।
कार्यकर्ता सम्मेलन में कार्यकर्ता मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुखौटे लगाकर पहुंचे।
कार्यक्रम में 10 लाख कार्यकर्ताओं के पहुंचने का दावा किया गया था।
सम्मेलन में बड़ी तादाद में महिला कार्यकर्ता भी पहुंचीं।
मंच पर बैठे भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, संगठन महामंत्री रामलाल, उपाध्यक्ष प्रभात झा और केंद्रीय मंत्री उमा भारती।
कार्यक्रम स्थल पर मुख्यमंत्री का मुखौटा लगाए बच्चे।
उज्जैन सांसद चिंतामणि मालवीय की कार कार्यक्रम स्थल से आधा किलोमीटर पहले रोक दी गई। वे यहां से पैदल गए।
कार्यक्रम में कार्यकर्ता एक दिन पहले ही पहुंचना शुरू हो गए थे।
कार्यक्रम शुरू होने के बाद भी कार्यकर्ताओं के यहां पहुंचने का सिलसिला जारी रहा।
एक दिन के लिए शहर के स्कूलों की छुट्टी कर दी गई।
कार्यक्रम स्थल पर पहुंचते ही कार्यकर्ताओं को सबसे पहले भोजन करने की सलाह दी गई।
शिवराज सिंह, नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने मंच से कार्यकर्ताओं का अभिवादन किया।
पूरे प्रदेश से कार्यकर्ताओं को लाने के लिए 9 ट्रेनें किराए पर ली गईं।
कार्यक्रम के दौरान भाजपा ने दावा किया कि 6.5 लाख कार्यकर्ता आए।
पुलिस का अनुमान है कि 3 से 4 लाख कार्यकर्ता पहुंचे।

Recommended