Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

मप्र/ रतलाम में 22 फरवरी से किसानों को दिए जाएंगे कर्जमाफी के प्रमाणपत्र और ताम्रपत्र

Dainik Bhaskar | Feb 19, 2019, 05:56 PM IST
मुख्यमंत्री कमलनाथ- फाइल।
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

  • इसके बाद जिला मुख्यालय और तहसील में आयोजित किए जाएंगे कार्यक्रम
  • सरकार का 1 मार्च तक किसानों को प्रमाण पत्र देने का है लक्ष्य

Dainik Bhaskar

Feb 19, 2019, 05:56 PM IST

भोपाल. मुख्यमंत्री कमलनाथ 22 फरवारी को रतलाम में जय किसान फसल ऋण मुक्ति योजना के लाभार्थीकिसानों को कर्जमाफी के प्रमाणपत्र और ताम्रपत्र देंगे। इसके बाद यहकार्यक्रम जिला और तहसील स्तर पर आयोजित किए जाएंगे। इन कार्यक्रमों में मंत्री और विधायक मौजूद रहेंगे।

ये भी पढ़ें

किसान कर्जमाफी का साढ़े 14 हजार सरकारी कर्मियों ने ले लिया फायदा, अब वसूली होगी

जानकारी के मुताबिक, 25 फरवरी से एक मार्च तक 383 ग्रामीण तहसीलों में किसान सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे। इनमें जिन किसानों का कर्जमाफ होगा, उन्हें ताम्रपत्र और फसल ऋण माफी पत्र बांटे जाएंगे।

एक मार्च तक 25 लाख किसानों के खातों में कर्जमाफी की राशि पहुंच जाएगी। इसमें सर्वाधिक किसान जिला सहकारी केंद्रीय बैंकों के होंगे। कृषि विभाग के अधिकारियों ने बताया कि हर सम्मेलन में सात से दस हजार के बीच किसान हिस्सा लेंगे। साथ ही,जो किसान कार्यक्रम में नहीं आ पाएंगे, उनके ताम्रपत्र घर भिजवाए जाएंगे।

हर सम्मेलन में खर्च होंगे दस लाख

सरकार ने हर तहसील में होने वाले सम्मेलन के लिए दस लाख रुपए स्वीकृत किए हैं। इस राशि को आयोजन और किसानों को सम्मेलन में लाने पर खर्च किया जाएगा। कृषि विभाग ने कलेक्टरों को निर्देश दिए हैं कि सम्मेलन के लिए तहसीलवार नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाए।