Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

मध्य प्रदेश/ ग्वालियर में नहीं बनेगा सिविल एयरपोर्ट, हवाई पट्टी पर दूसरे फेज में विचार करेंगे - डॉ. शर्मा

Dainik Bhaskar | Feb 20, 2019, 10:53 AM IST
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

  • गतिमान, शताब्दी से जुड़ा है ग्वालियर
  • नियमित फ्लाइट को नहीं मिलेंगे पैसेंजर

Dainik Bhaskar

Feb 20, 2019, 10:53 AM IST

ग्वालियर। केंद्रीय संस्कृति, पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन मंत्री डॉ. महेश शर्मा ने ग्वालियर में सिविल एयरपोर्ट बनाए जाने से इनकार किया है। लेकिन स्वतंत्र हवाई पट्टी बनाए जाने की बात कही है। हालांकि इसके लिए देश में छोटे एयरपोर्ट के लिए 200 हवाई पट्टियां बनाए जाने की योजना के दूसरे चरण का इंतजार करना होगा।


अभी इस योजना में 102 छोटी हवाई पट्टियों का काम हो चुका है। मंगलवार को चेंबर आफ कॉमर्स में आयोजित कार्यक्रम में कारोबारियों और शहर के प्रबुद्ध नागरिकों से चर्चा के दौरान डॉ. शर्मा ने कहा कि फिजिबिलिटी रिपोर्ट के अनुसार ग्वालियर को मुंबई, दिल्ली, आगरा आदि शहरों से गतिमान और शताब्दी एक्सप्रेस से जोड़ा गया है। ऐसे में यहां नियमित फ्लाइट के लिए पर्याप्त पैसेंजर ही नहीं है, इसलिए सिविल एयरपोर्ट का निर्माण संभव नहीं है। चर्चा के दौरान केंद्रीय ग्रामीण विकास, पंचायतीराज एवं संसदीय कार्य मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर भी मौजूद थे।


वर्ष 2012 से चल रहे थे सिविल एयरपोर्ट के लिए प्रयास: वर्ष 2012 से ग्वालियर में सिविल एयरपोर्ट के लिए जमीन तलाशने के प्रयास चल रहे हैं । पहले साडा क्षेत्र के दुगनावली, मिलावली और कुलैंथ की 600 एकड़ जमीन पर वर्ष 2015-16 में एयरपोर्ट प्रस्तावित किया गया था। इसके लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी आफ इंडिया, मेट्रोलॉजिकल विभाग से अनुमति भी मिल गई थी। लेकिन प्रस्तावित स्थल की दूरी महाराजपुरा एयरफोर्स स्टेशन से 20 किमी के भीतर (18 किमी) होने से एयरफोर्स ने इस पर आपत्ति लगा दी। दूसरी आपत्ति प्रस्तावित जमीन का सोन चिरैया अभयारण्य क्षेत्र में शामिल होने की थी।