होशंगाबाद / हर प्रदेश में संगीत और खेल को अनिवार्य करना चाहिए, चुनावी मुद्दा शिक्षा और पर्यावरण भी होना चाहिए: शशांक सुब्रमण्यम

  • दक्षिण भारतीय संगीत में बांसुरी वादन के सिद्धहस्त और ग्रेमी नॉमीनेटशशांक सुब्रमण्यम की भास्कर से विशेष बातजीत

Dainik Bhaskar

Apr 18, 2019, 02:38 PM IST

हाेशंगाबाद.साउथ के स्कूलाें में शास्त्रीय संगीत के गायन वादन के विषय औरखेलकूद अनिवार्य है। जब स्टूडेंट स्कूल की पढ़ाई पूरी करके निकलते हैं ताे उन्हें सुर ताल का पता हाेता है, स्टूडेंट्स काेई न काेई वाद्ययंत्र बजाने में सक्षम हाेते हैं। इतने ही सक्षम वे किसी खेल काे खेलने में भी हाेते हैं। साउथ की तरह देश के हर प्रदेश में स्कूल शिक्षा में संगीत औरखेल अनिवार्य करना चाहिए। चुनावी मुद्दे में स्कूल शिक्षा अाैर पर्यावरण काे प्राथमिकता देना चाहिए।

यह बात दक्षिण भारतीय संगीत में बांसुरीवादन के सिद्धहस्त अंतरर्राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता शशांक सुब्रमण्यम ने भास्कर से विशेष बात में कही। उन्हाेंने कहा सरकार काेई भी शिक्षा औरपर्यावरण पर विचार करना भूल जाती है। स्पिक मैके अध्याय के तत्वावधान में शशांक सुब्रमण्यम अपने मृदंग वादक साथी कलाकार फाल्गुन के साथ बांसुरी वादन की प्रस्तुति देने होशंगाबाद आए।

उन्हाेंने पवारखेड़ा स्थित नवाेदय विद्यालय में बांसुरीवादन की प्रस्तुति दी औरबांसुरी के विषय में विस्तार से जानकारी दी। फाल्गुन ने मृंदगम पर ताल की संगत दी। कार्यक्रम का संचालन स्पिक मैके के स्टेट काेऑर्डिनेटर अशाेक जमनानी ने किया। इस अवसर पर सुनील बाजपेयी औरनवाेदय विद्यालय की प्राचार्य स्टाफ औरस्टूडेंट्स बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।


बांसुरी की रोचक जानकारी : बेस देती है बड़ी शंख बांसुरी और गहरी तीव्र आवाजाें के लिए छाेटी बांसुरी। बड़ी बांसुरी बेस औरमाेटे स्वर के लिए उपयाेगी है। इसे शंख बांसुरी कहते हैं।छाेटी बांसुरी तीव्र औरउच्च स्वराें के लिए जरूरी हाेती है। हिंदी में इसे बांसुरी, तमिल में इसे वेनु, दूसरी भाषाओंमें पाेंगलु, काेड़लु कहा जाता है।

शशांक सुब्रमन्यम का परिचय एक नजर में
जन्म - रुद्रपटना भारत 1978
गुरु - बायाेटेक्नाॅलाॅजी के प्राेफेसर और पिता
पहली प्रस्तुति - 1984 छह साल की उम्र में
स्टाइल - एक ही समय में अलग-अलग

बांसुरियाें के प्रयाेग से नई धुन बनाना
2017 - भारत सरकार का संगीत नाटक

Share
Next Story

मध्य प्रदेश / बैतूल के एक नाबालिग सहित 8 को हैदराबाद में बंधक बनाकर कराया जा रहा था काम, पुलिस ने छुड़ाया

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News