भय्यू महाराज सुसाइड केस / डेटा रिकवर करने आरोपियों के पांच मोबाइल फोरेंसिक लैब भेजे

रिकवरी के बाद पुलिस कर सकती है नया खुलासा

Dainik Bhaskar

Jan 21, 2019, 10:13 AM IST

इंदौर. भय्यू महाराज की मौत के मामले में तीन आरोपियों के पकड़ाए जाने के बाद अब पुलिस ने आरोपियों के मोबाइल को फोरेंसिक लैब में डेटा रिकवर करने के लिए भेजा है। जल्द ही डेटा रिकवर होते ही पुलिस और भी खुलासे कर सकती है। फिलहाल महाराज को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में गिरफ्तार उनका सबसे खास सेवादार विनायक दुधाले, शरद देशमुख और पलक पौराणिक जेल में हैं। इन सभी आरोपियों के करीब पांच मोबाइल को पुलिस ने डेटा रिकवरी के लिए भेजा है।


बहन बोली- विनायक भय्यूजी को देता था दवा का हाईडोज :
महाराज की बड़ी बहन रेणु अक्का ने बताया कि कई बार जब महाराज कमरे में अकेले होते थे तो पलक और विनायक घर वालों को नहीं मिलने देते थे। एक बार विनायक महाराज को दवा दे रहा था। मैं पहुंचीं तो उसने रैपर छिपा लिया था। उसकी इस हरकत पर संदेह हुआ तो बाद में उन्होंने उस रैपर को डस्टबिन से उठाकर अपने डॉक्टर पति से सलाह ली थी, लेकिन जो दवा विनायक ने दी थी वह हाईडोज की थी जबकि डॉक्टरों ने उन्हें काफी कम डोज की दवा लिखी थी। इसी के बाद से विनायक पर शंका बढ़ने लगी थी। वहीं पलक और विनायक महाराज को दवाएं रैपर फाड़कर हाथ में ही देते थे और सामने खड़े होकर खिला देते थे। इससे उनकी दिमागी हालत व स्वास्थ्य गड़बड़ाने लगा था।

Share
Next Story

आचार संहिता / कार में मिले 7 लाख रुपए प्रशासन ने जब्त किए, व्यापारी ने कहा- पेट्रोल पंप के रुपए हैं

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News