मध्यप्रदेश / फ्लाइट में 10 माह के बच्चे की श्वास नली में अटका दूध, इंदौर के डॉक्टर ने मसाज और मुंह से सांस देकर बचाई जान

  • डॉ. तरुण गांधी ने बच्चे को तुरंत कार्डियक मसाज दी,उलटा कर पीठ थपथपाई; मुंह से सांस दी

Dainik Bhaskar

Jan 21, 2019, 12:52 AM IST

गौरव शर्मा,इंदौर. शुक्रवार को हैदराबाद से आए प्लेन की जब इंदौर में लैंडिंग की तैयारी थी, तभी विमान के अंदर एक 10 माह के बच्चे अारव की जान बचाने की जद्दोजहद चल रही थी। जिसकी सांसें फीडिंग के दौरान श्वास नली में दूध जाने से थम गई थीं।

इंडिगो की फ्लाइट करीब सवा आठ बजे इंदौर आती है। लैंडिंग के समय हैदराबाद की मोनल सारड़ा के चिल्लाने की आवाज ने बाकी मुसाफिरों को चौंका दिया। यह देख विमान में मौजूद इंदौर के डॉ. तरुण गांधी ने बच्चे को तुरंत कार्डियक मसाज दी। उलटा कर पीठ थपथपाई। मुंह से सांस दी।

कुछ समय बाद बच्चे ने रोना शुरू किया और मां की जान में जान आई। जान बचाने की इस पद्धति को सीपीआर (कार्डियो पल्मोनरी रिससिटैशन) कहते हैं।
एयर होस्टेस और स्टाफ की मदद से बच्चे को ऑक्सीजन मास्क लगाया गया। विमान में लैंडिंग होने के बाद बच्चे को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां कुछ समय बाद उसे डिस्चार्ज कर दिया गया।

Share
Next Story

आचार संहिता / कार में मिले 7 लाख रुपए प्रशासन ने जब्त किए, व्यापारी ने कहा- पेट्रोल पंप के रुपए हैं

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News