घटि्टया विधानसभा / राम का वनवास खत्म, तीसरी बार बने विधायक सामने बाहरी प्रत्याशी होने का फायदा मिला

  • भाजपा को नया चेहरा उतारना भारी पड़ा, जनता ने स्थानीय को ही चुना

Dainik Bhaskar

Dec 12, 2018, 01:06 PM IST

उज्जैन.रामलाल मालवीय का राजनीतिक वनवास खत्म हो गया है। विधानसभा से तीसरी बार विधायक बनने वाले वे पहले व्यक्ति बन गए हैं। उन्हें अब तक के सबसे ज्यादा 79,639 मत मिले हैं। 1977 से लेकर 2018 तक के चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी को इसके पहले कभी इतने मत नहीं मिले। हालांकि उनकी जीत का अंतर 4628 मतों का ही रहा।


उनके स्थानीय होने से भाजपा प्रत्याशी अजीत प्रेमचंद बोरासी को हार का मुंह देखना पड़ा। लोगों ने स्थानीय उम्मीदवार को पसंद किया। उम्मीदवार बनने के बाद से ही वे सतत‌् लोगों से मिलते रहे। युवाओं की टीम ने उन्हें हर तरह से सहयोग किया। पूर्व में बनी उनकी अच्छी छवि का भी उन्हें फायदा मिला। क्षेत्र में जमीनी पकड़ होने और सभी जातियों में उनका आधार होने से वे कम समय में ही ज्यादा लोगों तक पहुंचनेमें कामयाब रहे। ये सभी कारण उनकी जीत का आधार बने।


घटि्टया विधानसभा पर इस बार सबकी नजर थी। यहां पर भाजपा ने पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्‌डू के पुत्र अजीत बौरासी को मैदान में उतारा था। इसके पहले भाजपा ने संघ से जुड़े अशोक मालवीय को टिकट दिया था, जिसे ऐनवक्त पर बदल दिया गया। दूसरी ओर कांग्रेस ने 20 साल के अनुभवी खिलाड़ी रामलाल मालवीय को फिर से मौका दिया। मालवीय को जनता का आशीर्वाद मिला।


सात राउंड तक उन्हें 26690 मत मिले थे। इस दौरान वे भाजपा के प्रत्याशी 288 मतों से आगे थे। आठवें, नवें और दसवें राउंड में उनकी बढ़त कम हुई लेकिन 11वें से लेकर 20 तक उन्होंने फिर लीड बनाई। क्षेत्र के 48 हजार मालवीय मतदाताओं में से 35 हजार का साथ उन्हें मिला। इसके अलावा मुस्लिम, राजपूत, आंजना और रविदास समाज ने भी उन पर भरोसा जताया। उनके समर्थन में दिग्वजयसिंह ने घटि्टया के मुख्य बाजार में सभा करके मतदाताओं को उनके पक्ष में कर दिया।


किसे कितने वोट मिले

  • कुल मतदाता 2,04,613 मतदान 1,63,888 (80%)
  • रामलाल मालवीय कांग्रेस 79,639 48% जीते
  • अजीत बौरासी भाजपा 75,011 45% हारे
  • नाथूलाल धोलपुरे बसपा 2,618 0.1% निकटतम
Share
Next Story

आचार संहिता / कार में मिले 7 लाख रुपए प्रशासन ने जब्त किए, व्यापारी ने कहा- पेट्रोल पंप के रुपए हैं

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News