इंदौर / नगर निगम ने तोड़ी रीगल चौराहे स्थित दुकान, कार्रवाई के विरोध में व्यापारी ने खाया जहर

जहर खाने वाले व्यापारी को इस तरह पकड़कर अस्पताल ले जाया गया

  • व्यापारी को उपचार के लिए एमवाय अस्पताल में भर्ती कराया गया है
  • व्यापारी ने निगम की कार्रवाई को बताया गलत, कहा प्रायवेट जमीन पर बनी थीदुकान

Dainik Bhaskar

Apr 16, 2019, 01:49 PM IST

इंदौर. रीगल चौराहे पर टॉकिज के पास स्थित एक दुकान को नगर निगम की टीम ने मंगलवार को तोड़ दिया। निगम की कार्रवाई के विरोध में एक व्यापारी ने जहर खा लिया जिसे उपचार के लिए एमवाय अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

निगम का दस्ता मंगलवार सुबह रीगल चौराहे पर पहुंचा। दस्ते ने वहां टॉकिज के पास बनी दुकान शिवा एव्हरप्रेश को तोड़ने की कार्रवाई प्रारंभ की। निगम की टीम द्वारा दुकान तोड़ने की कार्रवाई करते देख दुकान मालिक शिवा रतन डे भड़क गए और निगम की कार्रवाई का विरोध करने लगे। उन्होंने निगम कर्मचारियों को जहर खाने के साथ ही आत्मदाह करने की धमकी भी दी।


अन्य व्यापारियों ने निगम अधिकारियों को बताया कि जिस जमीन पर यह दुकानें बनी है वह सरकारी जमीन नहीं है बल्कि निजी जमीन है। लेकिन निगम अधिकारियों ने व्यापारियों की बात को अनसुना कर दुकान तोड़ दी। निगम की इस कार्रवाई के विरोध में व्यापारी शिवा रतन ने कीटनाशक दवाई पी ली जिससे उनकी हालत खराब हो गई। व्यापारी को तत्काल एमवाय अस्पताल पहुंचाया गया जहां उसका उपचार किया जा रहा है।


कीटनाशक पीने वाले व्यापारी के परिजनों ने आरोप लगाते हुए कहा कि गुमटी के पीछे स्थित प्लॉट मालिक को फायदा पहुंचाने के लिए निगम द्वारा यह कार्रवाई की गई है जबकि गुमटी निजी जमीन पर लगी थी।

दिया था नोटिस

मामले में निगम उपायुक्त महेंद्रसिंह चौहान ने दुकानदार द्वारा जहर खाने की बात को नकारा है। उनका कहना है कि छह दुकानों को हटाने के लिए नोटिस दिए गए थे। इसके बाद ही रीगल तिहारे से दुकानें हटाई जा रही हैं।

जहर खाने वाले व्यापारी को इस तरह पकड़कर अस्पताल ले जाया गया
Share
Next Story

आचार संहिता / कार में मिले 7 लाख रुपए प्रशासन ने जब्त किए, व्यापारी ने कहा- पेट्रोल पंप के रुपए हैं

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News