वायलिन बजाती युवतियां और जोधा अकबर का रॉयल अंदाज दूल्हा-दुल्हन की एंट्री को बना रहा खास

शादियों में तेजी से ट्रेंड बदल रहा है। हर कपल अपने इस दिन को खास बनाने में लगा है। पहले के जमाने में स्टेज पर घूंघट...

Bhaskar News Network

Dec 08, 2018, 04:45 AM IST
शादियों में तेजी से ट्रेंड बदल रहा है। हर कपल अपने इस दिन को खास बनाने में लगा है। पहले के जमाने में स्टेज पर घूंघट में शर्माते हुए आने वाली दुल्हन अब सेलिब्रिटी स्टाइल में डांसर्स के साथ आती है। वहीं दुल्हन की एंट्री को लेकर भी इनोवेशन हो रहे हैं। इनमें खिलते हुए कमल से बाहर आने, हार्ट शेप से उसे स्टेज पर एंट्री दिलाने जैसे प्रयोग किए जा रहे हैं। बाहुबली, जोधा अकबर, देवलोक, घूमर थीम पर दूल्हा-दुल्हन की एंट्री वेडिंग पार्टी में आकर्षण का केन्द्र बनी हुई हैं। जहां पिछले साल तक दूल्हा-दुल्हन की मून और हार्ट एंट्री का क्रेज था, वहीं इस वेडिंग सीजन में कई नई थीम शहर के लोगों के लिए लाई गई है, जो पार्टी की जान होती हैं। पूरी पार्टी में लोग ब्राइड और ग्रूम को देखना चाहते हैं। उनकी जबरदस्त एंट्री सभी का ध्यान आकर्षित करने के लिए बेस्ट है। ऐसे में शहर में अलग-अलग अंदाज में ब्राइड और ग्रूम की एंट्री हो रही हैं। हर किसी के बजट को ध्यान में रखते हुए अलग-अलग थीम अवेलेबल है।

शादी के मंडप में दूल्हा-दुल्हन की सेलिब्रिटी स्टाइल में हो रही एंट्री

Âबाहर से बुलाई जा रही टीम

बाहुबली थीम, जोधा अकबर थीम और घूमर थीम एंट्री के लिए बाहर से टीम बुलाई जा रही है। जहां बाहुबली थीम में रथ में बैठकर दूल्हे की एंट्री 12 सिपाहियों के साथ होती है, वहीं जोधा अकबर थीम में बग्घी में दूल्हे को बैठाकर फायर वर्क और मशाल लिए सिपाहियों के साथ एंट्री होती है। धीरे-धीरे ग्रूम को स्टेज तक लाया जाता है। जोधा अकबर और बाहुबली ट्रैक के साथ आने वाले ग्रूम पर सबकी निगाहें टिकी रह जाती हैं। वेडिंग प्लानर शुभम जैन ने बताया कि शहर में कई लोग अलग अंदाज में दूल्हा-दुल्हन की एंट्री पसंद कर रहे हैं। इसके लिए कस्टमर की डिमांड और बजट को ध्यान में रखकर एंट्री मैनेज करते हैं। शहर में ब्राइडल और ग्रूम की एंट्री का खर्च 25 हजार रुपए से 2 लाख रुपए तक पहुंच चुका है।

Âरॉयल अंदाज भी है हिट

ग्रूम और ब्राइड की एंट्री वायलिन और पुराने जमाने की कारों को मॉडीफाइड करके उसे रॉयल लुक दिया जा रहा है। इस तरह की एंट्रियां भी शहर में पसंद की जा रही है। इसके लिए भी बाहर से टीम बुलाई जा रही है। वेडिंग प्लानर शुभम जैन ने बताया कि 30 फीट हाईट पर रॉयल अंदाज में मून एंट्री और हार्ट के साथ कपल एंट्री और वरमाला भी लोगों की पसंद में शामिल है। पालकी, फूलों की चादर के साथ एंट्री का ट्रेंड है।

Âकोल्ड फायर वर्क का बढ़ रहा इस्तेमाल

शहर में दूल्हा-दुल्हन की ग्रैंड एंट्री के लिए बग्घी और रथ के साथ हाथी का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। राधाकृष्ण थीम पर दूल्हे की एंट्री रथ पर सारथी और मशाल लिए सिपाही के साथ और दुल्हन की एंट्री पालकी में हो रही है। स्टेज पर पहुंचते ही देवलोक की तरह अप्सराएं नृत्य करती हैं और वरमाला होता है। वेडिंग प्लानर शैलेष नामदेव ने बताया कि इस दौरान कोल्ड फायर वर्क का इस्तेमाल किया जाता है जिससे आग लगने जैसी दुर्घटनाएं न हो। जिससे बजट भी बढ़ जाता है।

Share
Next Story

MYTH: किले का रहस्य, धोखे में गई थी नटिन की जान, भटकती है आत्मा / MYTH: किले का रहस्य, धोखे में गई थी नटिन की जान, भटकती है आत्मा

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News