एविएशन / एयर इंडिया को बीते वित्त वर्ष में 8400 करोड़ रुपए का घाटा हुआ

  • परिचालन घाटा 4600 करोड़ रुपए रहा; ऑपरेटिंग खर्च, फॉरेक्स एक्सचेंज घाटा ज्यादा
  • हवाई ईंधन महंगा होने, पाकिस्तान द्वारा एयरस्पेस बंद करने की वजह से भी असर पड़ा
  • मौजूदा वित्त वर्ष में 700 करोड़ रुपए से 800 करोड़ तक के ऑपरेटिंग प्रॉफिट की उम्मीद

Dainik Bhaskar

Sep 16, 2019, 10:24 AM IST

नई दिल्ली. एयर इंडिया को बीते वित्त वर्ष (2018-19) में कुल 8,400 करोड़ रुपए का शुद्ध (नेट) घाटा हुआ। परिचालन (ऑपरेटिंग) घाटा 4,600 करोड़ रुपए रहा। क्योंकि, परिचालन लागत और विदेशी मुद्रा विनिमय (फॉरेक्स एक्सचेंज) घाटा बढ़ गया। एयरलाइन का रेवेन्यू 26,400 करोड़ रुपए रहा। न्यूज एजेंसी ने रविवार को यह जानकारी दी।

तेल की कीमतें बढ़ने और पाकिस्तान द्वारा भारतीय एयरलाइंस के लिए एयरस्पेस बंद करने की वजह से एयर इंडिया का घाटा बढ़ गया। भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने 26 फरवरी को एयरस्पेस बंद किया था। पाकिस्तानी एयरस्पेस बंद होने से एयर इंडिया को 2 जुलाई तक 491 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ।

एयर इंडिया ने चालू वित्त वर्ष (2019-20) में मुनाफे में आने कालक्ष्य रखा है। एयरलाइन को उम्मीद है कि हवाई ईंधन की कीमतों और विदेशी मुद्रा विनिमय की दरों में बहुत ज्यादा उतार-चढ़ाव नहीं हुआ तो 700 करोड़ रुपए से 800 करोड़ तक का ऑपरेटिंग प्रॉफिट होगा।

Share
Next Story

दिल्ली / विंग कमांडर अंजलि सिंह भारत की पहली महिला सैन्य राजनयिक बनीं, रूस के भारतीय दूतावास में तैनात

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News