भास्कर इंटरव्यू / एविएशन सेक्रेटरी ने कहा- हवाई किरायों पर नजर, एयरलाइंस को किराए नहीं बढ़ाने की हिदायत दी

प्रदीप सिंह खरोला, एविएशन सेक्रेटरी।

  • कहा- विमानों की कमी अगले हफ्ते पूरी होगी, प्लेन तैयार हैं सिर्फ स्टीकर बदलना है
  • ऐसे इंटरनेशनल पैसेंजर जिनकी उड़ानें रद्द हो गई हैं, उनके लिए एयर इंडिया ने रेस्क्यू फेयर की सुविधा दी है

Dainik Bhaskar

Apr 19, 2019, 11:40 AM IST

नई दिल्ली. जेट एयरवेज को लेकर चल रही उठापटक के बीच सिविल एविएशन सेक्रेटरी प्रदीप सिंह खरोला से अनिरुद्ध शर्मा ने बातचीत की। जेट के यात्रियों को बुक टिकट का रिफंड दिलवाने और हवाई किराए बढ़ने से रोकने के लिए की जा रही कोशिशों समेत एविएशन सेक्टर के मौजूदा हालातों पर चर्चा हुई।

सवाल- टिकट रिफंड और वैकल्पिक टिकट देने को लेकर क्या व्यवस्था है?
सिविल एविएशन सेक्रेटरी का जवाब- जेट से यात्रियों का बुकिंग स्टेटस, रिफंड और वैकल्पिक टिकट मुहैया कराने की योजना मांगी है। जेट ने कहा है कि वह सोमवार को दुनियाभर से अपने बुकिंग स्टेटस के साथ योजना सबमिट करेगी। टिकट बुकिंग के समय क्रेडिट कार्ड वाले बैंक कुछ पैसा अपने पास ही रोककर रखते हैं, वे पूरा पैसा एयरलाइंस को ट्रांसफर नहीं करते हैं।

सवाल- दूसरी एयरलाइंस ने फेयर बढ़ा दिए हैं?
जवाब- सभी एयरलाइंस के फेयर पर हमारी नजर है। उन्हें सख्त हिदायत दी गई है कि वे फेयर न बढ़ाएं।

सवाल- अगले हफ्ते तक 20-30 लीज्ड विमान शुरू कर जेट की कमी पूरी करना संभव है?
जवाब- लीज्ड विमान की उड़ानें अभी-अभी बंद हुई हैं। और वे देश में ही हैं, उन्हें पेंट करने तक की जरूरत नहीं है। बस उनके स्टीकर बदलेंगे और उड़ान के लिए तैयार। अब ये एयरलाइंस पर निर्भर करता है कि वे इन विमानों को पट्टे पर देने वालों के साथ क्या डील करते हैं।

सवाल- जेट एयरवेज की उड़ानें बंद होने के बाद यात्रियों को काफी दिक्कतें हो रही हैं। इसके लिए सरकार ने क्या किया?
जवाब- गुरुवार को दिन भर हमने एक के बाद 3 बैठकें कीं। एयरपोर्ट ऑपरेटर्स की बैठक में पता चला कि जेट का संचालन बंद होने के चलते कुल 440 स्लॉट यानी 220 डिपार्चर शेड्यूल खाली हो गए हैं। इन्हें भरने की प्रक्रिया जारी है। डोमेस्टिक एयरलाइंस के साथ मीटिंग में तय हुआ कि वे 3 महीने में कम से कम 30 विमान बेड़े में जोड़ेंगे। अगले हफ्ते तक 20-30 लीज्ड विमान भी उपलब्ध होंगे। अन्य एयरलाइंस के विमान जुड़ने के कारण जेट की उड़ान बंद होने के बाद भी 17 विमानों की ही कमी आई है।

सवाल- जेट की अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर क्या कहना है?
जवाब- घरेलू यात्रियों पर ज्यादा फोकस हैं। अगले कुछ महीनों तक पीक सीजन भी है। कुछ एयरलाइंस जेट के लीज विमानों के लिए बैंकों के साथ संपर्क में हैं। एयर इंडिया भी इसके लिए बैंकों से बातचीत कर रही है।

सवाल- इंटरनेशनल पैसेंजर के लिए भी सरकार नो कोई अलग फैसला किया है?
जवाब- ऐसे इंटरनेशनल पैसेंजर जिनकी उड़ानें रद्द हो गई हैं, उनके लिए एयर इंडिया ने रेस्क्यू फेयर की सुविधा दी है। ऐसे यात्रियों को एयर इंडिया जरूरी फेयर में विदेशी गंतव्य की टिकट मुहैया कराएगी।

सवाल- जेट के रिवाइवल को लेकर आपको कितनी उम्मीद है?
जवाब- जेट के रिवाइवल के लिए रिजोल्यूशन प्लान पर अभी काम चल रहा है। एसबीआई ने जेट में पैसा लगाने की इच्छा जाहिर करने वालों को बुलाया है। कुछ बिडर्स ऐसे भी हैं जिन्होंने गहरी रुचि दिखाई है।

सवाल- क्या स्टेट बैंक या दूसरे बैंक किसी दूसरी एयरलाइंस को सीधे एयरक्राफ्ट नहीं दे सकते?
जवाब- पहले वे उन विमानों के मालिक तो बनें, उसके बाद ही वे ऐसा कर सकेंगे।

Share
Next Story

हैप्पी वैलेंटाइन डे / वैलेंटाइन डे स्पेशल ऑफर के टॉप 15 मैसेज पब्लिश

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News