Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

कार्रवाई/ सेंट्रल रेलवे ने पिछले 8 महीने में बेटिकट यात्रियों से 125 करोड़ रु वसूले

  • अप्रैल से नवंबर के बीच यह कार्रवाई हुई, नवंबर में 21.39 करोड़ रु की रिकवरी
  • नवंबर 2017 की तुलना में नवंबर 2018 में पेनल्टी वसूली की रकम 83% ज्यादा

Dainik Bhaskar | Dec 13, 2018, 09:14 AM IST

मुंबई. सेंट्रल रेलवे ने 8 महीने (अप्रैल-नवंबर) में बेटिकट या अनियमित यात्रियों से 125 करोड़ रुपए का जुर्माना वसूला। नवंबर में 21.39 करोड़ रुपए की वसूली हुई। यह नवंबर 2017 के 11.66 करोड़ रुपए की तुलना में 83.45 ज्यादा है। सेंट्रल रेलवे ने बुधवार को यह जानकारी दी।Advertisement

8 महीने में 24.71 लाख बेटिकट, अनियमित यात्री पकड़े गए

  1. सेंट्रल रेलवे ने बताया कि इस साल नवंबर में बेटिकट या अनियमित यात्रा के कुल 3.91 लाख केस पकड़े गए। इनमें बिना बुकिंग लगेज ले जाने के मामले भी शामिल हैं। पिछले साल नवंबर के 2.53 लाख मामलों से यह 54.55% ज्यादा है।

    Advertisement

  2. इस साल अप्रैल से नवंबर के बीच बेटिकट या अनियमित यात्रियों और लगेज बुक नहीं करवाने के कुल 24.71 लाख सामने आए। ऐसे पैसेंजर पर जुर्मान से सेंट्रल रेलवे को 125.16 करोड़ रुपए की आय हुई। यह पिछले साल नवंबर के 112.33 करोड़ रुपए की रकम से 11.42 ज्यादा है।

  3. दूसरे के टिकट पर यात्रा करने वालों से 1 महीने में 3.69 लाख रु वसूले

    इस साल नवंबर में 789 ऐसे यात्री पकड़े गए जो किसी और के रिजर्व टिकट पर यात्रा कर रहे थे। इनसे 3.69 लाख रुपए पेनल्टी ली गई। रेलवे का कहना है कि बेटिकट यात्रियों की संख्या कम करना प्राथमिकता है।

  4. सेंट्रल रेलवे भारतीय रेलवे के 17 जोन में से एक है। इनमें महाराष्ट्र का बड़ा हिस्सा, दक्षिणी मध्यप्रदेश के कुछ हिस्से और उत्तर-पूर्वी कर्नाटक शामिल हैं। सेंट्रल रेलवे 5 डिवीजनों- मुंबई, भुसावल, नागपुर, सोलापुर और पुणे में बंटा हुआ है।

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended

Advertisement