Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

ऑनर किलिंग / तेलंगाना में ससुर ने एक करोड़ रुपए की सुपारी देकर दामाद की हत्या करवाई

अमृता और प्रणय ने जनवरी में शादी की थी। -फाइल

  • 14 सितंबर को गर्भवती पत्नी को अस्पताल ले जाते वक्त हुई थी इंजीनियर की हत्या
  • पुलिस ने बिहार के समस्तीपुर से मुख्यआरोपी को गिरफ्तार किया
  • गिरफ्तार आरोपियों में से दो गुजरात के पूर्व गृह मंत्री हरेन पंड्या की हत्या के मामले में बरी हुए थे

Dainik Bhaskar

Sep 19, 2018, 04:59 PM IST

हैदराबाद/समस्तीपुर.तेलंगाना के नालगोंडा में पिछले हफ्ते गर्भवती पत्नी के सामने इंजीनियर की हत्या के मामले में पुलिस ने आठ आरोपियों को गिरफ्तार किया है। तलवार सेहमला करने वाले सुभाष शर्मा को बिहार के समस्तीपुर से पकड़ा गया। उसके खिलाफ कई राज्यों में मामले दर्ज हैं। पुलिस ने बताया कि प्रेम विवाह से नाराज लड़की के पिता ने दलित-ईसाई दामाद को खत्म कराने के लिए एक गिरोह को सुपारी दी। गिरोह ढाई करोड़ रुपए मांग रहा था, लेकिन एक करोड़ रुपए पर समझौता हुआ।

प्रेमी युगल ने जनवरी में आर्य समाज मंदिर से शादी की

  1. तेलंगाना पुलिस के मुताबिक, प्रणय कुमार और अमृता वार्शिनी 9वीं क्लास से एक-दूसरे से प्यार करते थे। इसी साल जनवरी में दोनों ने आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली। प्रणय दलित-ईसाई समुदाय से था, इसलिए अमृता के घरवालों को यह रिश्ता मंजूर नहीं था।

  2. इस मामले में लड़की के पिता मारुति राव समेत सुभाष शर्मा, असगर अली, मोहम्मद अब्दुल बारी, अब्दुल करीम, टी श्रवण और समुद्राला शिवा आरोपी हैं। असगर अली और अब्दुल बारी हरेन पंड्या की हत्या के मामले में दोषी थे। दोनों हाईकोर्ट से बरी हो गए।

  3. पुलिस के मुताबिक, लड़की के पिता मारुति राव ने करीम के जरिए अब्दुल बारी से संपर्क किया। ये तीनों एक-दूसरे को 2011 से जानते थे। राव को ऑनर किलिंग के लिए ढाई करोड़ की मांग मंजूर नहीं थी। एक करोड़ रुपए पर बात बनी। गिरोह ने 50 लाख रुपए मांगे। लेकिन 15 लाख रुपए एडवांस दिया गया। 

  4. 14 सितंबर को प्रणय गर्भवती पत्नी अमृता को चेकअप के लिए अस्पताल ले गया था। इसी दौरान सुभाष शर्मा ने तलवार से उस पर हमला किया। घटना की तस्वीरें अस्पताल के सीसीटीवी में कैद हो गईं, जो बाद में वायरल हुईं।

  5. सुभाष की लोकेशन मिलने पर तेलंगाना पुलिस बिहार पहुंची और उसे समस्तीपुर के एक गांव से गिरफ्तार किया। सुभाष नालगोंडा में एक मीट कारोबारी के यहां काम करता था। वह बार-बार अपनी जगह बदल रहा था। वह प्लेन से मुंबई होते हुए समस्तीपुर पहुंचा था।

दोनों 9 क्लास के एक-दूसरे को जानते थे। -फाइल
लड़की के घरवालों को यह रिश्ता मंजूर नहीं था। -फाइल
Share
Next Story

कैबिनेट का फैसला / तीन तलाक देने पर 3 साल जेल, मोदी सरकार के अध्यादेश को राष्ट्रपति की मंजूरी

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News