पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
Open Dainik Bhaskar in...
Browser
Loading advertisement...

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गौतम गंभीर के लापता होने के पोस्टर लगे, लिखा - आखिरी बार इंदौर में जलेबी खाते दिखे थे

एक वर्ष पहले
दिल्ली के आईटीओ इलाके में लगा एक पोस्टर।
  • पिछले हफ्ते वीवीएस लक्ष्मण ने जतिन सप्रू और गंभीर के साथ इंदौर में जलेबी का नाश्ता करते हुए तस्वीर ट्वीट की थी
  • तस्वीर सामने आने के बाद गंभीर सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए, प्रदूषण पर होने वाली बैठक में गैरमौजूदगी के लिए आलोचना की गई
  • 15 नवम्बर को दिल्ली में प्रदूषण पर चर्चा के लिए बैठक में गंभीर नहीं थे, वे इंदौर में भारत-बांग्लादेश मैच में कमेंट्री कर रहे थे
Loading advertisement...

दिल्ली. पूर्व क्रिकेटर और भाजपा सांसद गौतम गंभीर दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर बुलाई गई बैठक में शामिल नहीं होने के बाद से लगातार आलोचनाओं का सामना कर रहे हैं। रविवार को दिल्ली में गौतम गंभीर के लापता होने के पोस्टर लगाए गए। इन पोस्टरों पर लिखा था क्या आपने इन्हें कहीं देखा है? आखिरी बार इंदौर में जलेबी खाते ही देखा गया था। पूरी दिल्ली इन्हें ढूंढ रही है।
 
गंभीर बीते हफ्ते इंदौर में चल रहे टेस्ट मैच की कमेंट्री के लिए आए थे। शुक्रवार को वीवीएस लक्ष्मण ने जतिन सप्रू और गंभीर के साथ पोहा और जलेबी का नाश्ता करते हुए तस्वीर ट्वीट की थी। इसके बाद गंभीर को यूजर्स ने ट्रोल किया था। आप समेत अन्य विपक्षी पार्टियों ने गंभीर की आलोचना की थी।
 
विवाद बढ़ने के बाद गंभीर ने ट्वीट किया कि अगर मुझे गाली देने से दिल्ली का प्रदूषण कम होगा तो आप मुझे जी भरकर गाली दिजिए। मेरे संसदीय क्षेत्र और शहर के प्रति प्रतिबद्धताओं को वहां हो रहे काम से आंका जाना चाहिए। मैंने पिछले 6 महीने में मेरे मतदाताओ को सर्वश्रेष्ठ देने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी। गंभीर ने अपने कार्यकाल के दौरान किए गए विभिन्न कार्यों का ब्यौरा भी ट्विटर पर साझा किया था।
 

प्रदूषण पर होने वाली बैठक टाली गई
दिल्ली में दिवाली के बाद से ही प्रदूषण का स्तर काफी बढ़ गया है। सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को इसका समाधान करने का निर्देश दिया है। प्रदूषण के मुद्दे पर सरकार, कई प्राधिकरणों और जनप्रतिनिधियों की बैठक 15 नवम्बर को होनी थी। बैठक के पैनल में गंभीर समेत 29 सदस्यों को नामित किया गया था, जबकि केवल 4 सदस्य ही बैठक में पहुंचे। दिल्ली के तीन नगर निगमों के आयुक्त भी नहीं पहुंचे। इसके बाद बैठक टाल दी गई। आप ने इस अनुपस्थिति को सुप्रीम कोर्ट की अवमानना का मामला बताया था।
 

Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved

This website follows the DNPA Code of Ethics.