बयान / देवेगौड़ा मोदी से बेहतर प्रधानमंत्री थे: कुमारस्वामी; येदि बोले- 7 सीटों पर लड़ने वाले पीएम बनने का सपना देख रहे

पिता एचडी देवेगौड़ा के साथ कुमारस्वामी। -फाइल

  • एचडी देवेगौड़ा 1 जून 1996 से 21 अप्रैल 1997 तक प्रधानमंत्री रहे थे
  • कुमारस्वामी ने कहा- देवेगौड़ा सरकार के 10 महीने में कोई धमाका नहीं हुआ
  • देवेगौड़ा ने कहा था- राजनीति से रिटायर नहीं हो रहा हूं, राहुल पीएम बनेंगे तो बगल में बैठूंगा

Dainik Bhaskar

Apr 20, 2019, 08:34 AM IST

बेंगलुरु.कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने देवेगौड़ा को नरेंद्र मोदी से बेहतर प्रधानमंत्री बताया। उन्होंने कहा कि देवेगौड़ा के 10 महीने के कार्यकाल में आंतरिक सुरक्षा मौजूदा सरकार से कहीं अच्छी थी। तब देश में शांति का माहौल था और एक भी आतंकी हमला नहीं हुआ। मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार बालाकोट एयर स्ट्राइक का इस्तेमाल लोकसभा चुनाव में कर रही है। वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि राज्य सात सीटों पर लड़ रहे देवेगौड़ा प्रधानमंत्री या उनके सलाहकार बनने का सपना देख रहे हैं। जेडीएस प्रमुख एचडी देवेगौड़ा 1 जून 1996 से 21 अप्रैल 1997 तक प्रधानमंत्री रहे थे।

एक इंटरव्यू में कुमारस्वामी ने कहा कि देवेगौड़ा सरकार के 10 महीने मोदी सरकार के 5 साल के कामकाज पर भारी थे। जम्मू-कश्मीर में भारत-पाक सीमा पर पूरी तरह से शांति थी। देश के किसी भी हिस्से में बम धमाका नहीं हुआ। देवेगौड़ा के पास राजनीतिक अनुभव है और वे कुशल प्रशासक हैं। वे राहुल गांधी को बेहतर शासन चलाने के लिए सलाह देंगे।

देवेगौड़ा पर येदियुरप्पा ने चुटकी ली
दूसरी ओर, भाजपा नेता येदियुरप्पा ने एचडी देवेगौड़ा पर चुटकी ली। उन्होंने कहा कि जेडीएस राज्य की की 28 में से सिर्फ सात सीटों पर लड़ रही है, लेकिन देवेगौड़ा दोबारा प्रधानमंत्री या उनके सलाहकार बनना चाहते हैं। पिछले दिनोंदेवेगौड़ा ने कहा था कि मैं लालकृष्ण आडवाणी की तरह राजनीति से रिटायर नहीं हो रहा हूं। जब राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनेंगे तो मैं उनके बगल में बैठूंगा।

मोदी ने जेडीएस-कांग्रेस सरकार पर साधा था निशाना
कुछ दिन पहले नरेंद्र मोदी ने कर्नाटक की रैली में कहा था कि आज दुनिया भारत के साथ खड़ी है, लेकिन महामिलावटी दल (जेडीएस-कांग्रेस) पाकिस्तान की नहीं, मोदी की आलोचना कर रहे हैं। एयर स्ट्राइक के बाद कुछ लोग बालाकोट (पाकिस्तान) की बजाय बागलकोट (कर्नाटक) को सर्च कर रहे थे, उन्हें भरोसा था कि स्ट्राइक हुई ही नहीं। अब आपको तय करना है कि किसे वोट देना है।

Share
Next Story

हैप्पी वैलेंटाइन डे / वैलेंटाइन डे स्पेशल ऑफर के टॉप 15 मैसेज पब्लिश

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News