मध्यप्रदेश / बेटियों को बढ़ावा देने के लिए एंड संस की जगह शुरू की फादर-डाॅटर्स एंड कंपनी

ग्वालियर बेटियों के साथ उजाला गुप्ता।

  • कारोबारी उजाला गुप्ता ने अपनी शॉप के नाम के आखिर में 'एंड संस और एंड ब्रदर्स' की बजाय 'फादर-डॉटर्स एंड कंपनी' जोड़ा
  • कलेक्टर अनुराग चौधरी ने भी इस दुकान को अपने फेसबुक पेज पर शेयर किया, सराहना की

Dainik Bhaskar

Sep 16, 2019, 04:33 PM IST

ग्वालियर(प्रदीप बौहरे).ग्वालियर के कारोबारी उजाला गुप्ता ने पिता से मिले व्यवसाय का नाम कंपनी एमडी एंड संस की जगह फर्म फादर डॉटर्स एंड कंपनी किया है। यह प्रयास उजाला ने तीन साल पहले किया था। जिसे कलेक्टर ने भी अपने फेसबुक पेज पर शेयर किया। हर महीने लगभग 25 से 30 लाख रुपए का कारोबार करने वाले गुप्ता इसी नाम से डिपार्टमेंटल स्टोर्स की चेन शुरू करने की योजना बना रहे हैं। इनके कर्मचारियों में भी महिलाओं की संख्या ज्यादा है।

बता दें, जिले में 1000 बेटों के अनुपात में 849 बेटियां हैं। यह लिंगानुपात प्रदेश के औसत लिंगानुपात 918 से कम है।इन गंभीर हालातों के बीच सिटी सेंटर में कारोबार करने वाले उजाला गुप्ता का एक प्रयास सुकून देने वाला है। आमतौर पर एंड संस और एंड ब्रदर्स के नाम से कंपनियां रजिस्टर्ड होती हैं। उजाला ने इस अवधारणा को बदला है।

3 बेटियां संभालेंगी कारोबार

उजाला 4 भाई हैं। सभी भाइयों का अपना-अपना कारोबार है। उजाला ने कैलाश विहार सिटी सेंटर में दो मंजिला डिपार्टमेंटल स्टोर शुरू किया। गुप्ता कहते हैं कि उनकी 3 बेटियां हैं। आगे जाकर बेटियां ही कारोबार संभालेंगी। खुशी कक्षा 11वीं, परिज्ञा 9वीं और ऊर्जा गुप्ता कक्षा 2 में पढ़ती है। बड़ी बेटी अब काम में भी हाथ बंटाने लगी हैं।

कलेक्टर ने की सराहना

उजालागुप्ता ने खुद कक्षा 11 तक ही पढ़ाई की है, लेकिन वह अपनी बेटियों को उच्च शिक्षा दिलवाएंगे। कारोबार भी बेटियों को ही संभालना है। कलेक्टर अनुराग चौधरी ने भी इस दुकान को अपने फेसबुक पेज पर शेयर किया है। इसमें कलेक्टर ने लिखा है ग्वालियर बदल रहा है, हमेशा एंड ब्रदर्स और एंड संस ही देखा था। अब फादर डॉटर्स एंड कंपनी।

Share
Next Story

रिपोर्ट / पाकिस्तान को दिवालिया होने से ट्रम्प ही बचा सकते हैं; भारत को नाराज किए बगैर अमेरिका सौदेबाजी करेगा

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News