प्रतिक्रिया / मोदी ने कहा- साध्वी प्रज्ञा को चुनाव में उतारना हिंदुओं को आतंकी बताने वालों को जवाब

  • प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- राहुल और सोनिया भी जमानत पर हैं, लेकिन उनकी उम्मीदवारी पर कोई सवाल क्यों नहीं उठाता
  • मोदी- कांग्रेस ने समझौता एक्सप्रेस विस्फोट और जज बीएच लोया की मौत जैसी घटनाओं पर भी झूठ फैलाया

Dainik Bhaskar

Apr 20, 2019, 12:06 PM IST

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भोपाल लोकसभा सीट से दिग्विजय सिंह के खिलाफसाध्वी प्रज्ञा ठाकुर को टिकट दिए जाने के फैसले का बचाव किया।मोदी ने एक इंटरव्यू में कहा कि यह हिंदुओं को आंतकवादी बताने वालों को जवाब है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने5 हजार साल पुरानी संस्कृति जो ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ पर विश्वास करती है उस पर आतंकवाद का धब्बा लगाया। यहकांग्रेस के लिए महंगा साबित होगा।मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने समझौता एक्सप्रेस विस्फोट और जज बीएच लोया की मौत जैसी घटनाओं पर भी झूठ फैलाया।

मालेगांव ब्लास्ट के मामले में जमानत पर हैं साध्वी

  1. साध्वी प्रज्ञा मालेगांव ब्लास्ट के मामले में जमानत पर हैं। मोदी ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी भी अमेठी और रायबरेली से प्रत्याशी हैं। दोनों मां-बेटे जमानत पर हैं, लेकिन उन पर कभी कोई सवाल नहीं उठाया गया। एक महिला और साध्वी के रूप में उन्हें प्रताड़ित किया गया।

  2. फायदे के लिए कहानी गढ़ती है कांग्रेस

    मोदी ने कहा कि गुजरात में रहते हुए मैंने कांग्रेस के काम करने के तौर-तरीकों को समझा। वे किसी भी मामले को फिल्म की स्क्रिप्ट की तरह लिखते हैं। जस्टिस लोया की मौत एक स्वाभिवाक मौत थी, लेकिन कांग्रेस ने अपने फायदे के लिए अलग कहानी गढ़ी।

  3. प्रधानमंत्री ने कहा कि इंदिरा गांधी की हत्या के बाद 1984 में दिल्ली में हजारों सिखों का नरसंहार किया गया। क्या यह आतंकवाद नहीं था? दोषियों को बाद में मंत्री भी बनाया गया। कांग्रेस नेता कमलनाथ पर कई आरोप लगे, जिन्हें मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया गया। क्या कांग्रेस को सवाल उठाने का कोई अधिकार है?

  4. साध्वी प्रज्ञा ने शहीद हेमंत करकरे पर दिया था विवादित बयान

    इसके पहले साध्वी प्रज्ञा ने कहा था कि शहीद हेमंत करकरे ने मुझे दिन-रात टॉर्चर किया। इसलिए उन्हें संन्यासियों का श्राप लगा और मेरे जेल जाने के करीब 45 दिन बाद ही वह 26/11 के मुंबई आतंकी हमले का शिकार हो गए।

  5. हालांकि, साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने शहीद हेमंत करकरे को लेकर दिए गए विवादित बयान को वापस ले लिया। उन्होंने कहा कि वह मेरी व्यक्तिगत पीड़ा थी, जो मैंने सुनाई थी। अगर मेरे शब्दों से दुश्मनों को ताकत मिलती है तो मैं अपना बयान वापस लेती हूं। जो सैनिक मुंबई हमले मारा गया, मैं उसका सम्मान करती हूं।

Share
Next Story

हैप्पी वैलेंटाइन डे / वैलेंटाइन डे स्पेशल ऑफर के टॉप 15 मैसेज पब्लिश

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News