पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

वसुंधरा पर कांग्रेस की मदद का आरोप:सांसद बेनीवाल का ट्वीट- वसुंधरा बचा रही हैं गहलोत की अल्पमत वाली सरकार, कई कांग्रेस विधायकों को फोन किया, सबूत मेरे पास हैं

जयपुर22 दिन पहले
गहलोत और वंसुधरा के गठजोड़ को लेकर ट्विटर पर भी बातें की जाने लगी। #गहलोत_वसुंधरा_गठजोड ट्विटर के टॉप ट्रेंड में आ गया।
  • राजस्थान में भाजपा के सहयोगी दल रालोपा के सांसद हैं बेनीवाल, वसुंधरा विरोधी माने जाते हैं
  • प्रदेश में सात दिन से चल रही सियासी उठापटक पर अब तक कुछ भी नहीं बोलीं हैं वसुंधरा राजे
No ad for you

राजस्थान में भाजपा के सहयोगी दल राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (रालोपा) के सांसद हनुमान बेनीवाल ने वसुंधरा राजे पर बड़ा हमला किया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा है कि वसुंधरा राजे ने राजस्थान कांग्रेस में उनके करीबी विधायकों से फोन करके उन्हें गहलोत का साथ देने की बात कही है। सीकर व नागौर जिले के एक-एक जाट विधायकों को राजे ने खुद बात करके पायलट से दूरी बनाने को कहा है। इसके पुख्ता प्रमाण हमारे पास हैं! 

सियासी जानकार बताते हैं कि बेनीवाल अमित शाह के करीबी हैं। वहीं, वह वसुंधरा राजे के विरोधी माने जाते हैं। इसके अलावा, राजस्थान में सात दिनों से चल रहे सियासी उठापटक पर वसुंधरा राजे ने कोई टिप्पणी नहीं की है। यहां तक की दो बार भाजपा ने जयपुर में बैठक रखी, इसमें भी वसुंधरा नहीं पहुंचीं। इस बीच, अशोक गहलोत और वंसुधरा राजे के गठजोड़ को लेकर ट्विटर पर भी बातें की जाने लगीं। #गहलोत_वसुंधरा_गठजोड ट्विटर के टॉप ट्रेंड में आ गया। 

बेनीवाल ने भाजपा से की थी राजनीति की शुरुआत
बेनीवाल अभी राजस्थान के नागौर सीट से सांसद हैं। उन्होंने भाजपा से राजनीति की शुरुआत की थी। 2008 में बेनीवाल पहली बार भाजपा के टिकट पर चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे। इसके बाद 2013 में उन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ा। 2018 में उन्होंने राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी का गठन किया। वे नागौर के ही बारांगांव के रहने वाले हैं। राजस्थान के जाट समुदाय के वोटर्स में उनकी अच्छी पकड़ मानी जाती है। 2019 के लोकसभा चुनाव में उनकी पार्टी ने भाजपा के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ा था।

राजस्थान के सियासी घटनाक्रम से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें... 

1. सचिन पायलट की कांग्रेस में वापसी के आसार/राहुल गांधी चाहते हैं कि उन्हें फिर मौका मिले; अहमद पटेल भी लगातार पायलट के संपर्क में हैं

2. सबसे बड़ा सवाल- पायलट अब क्या करेंगे/सचिन पायलट नई पार्टी बनाएंगे, बीजेपी में जाएंगे या फिर कांग्रेस में रहकर सब कुछ स्वीकार करेंगे

3. राजस्थान में हॉर्स ट्रेडिंग/ एसओजी के केस ने सियासी तूफान ला दिया, सत्ता-संगठन बदल गए; सबूत के लिए बयान अभी बाकी हैं

No ad for you

देश की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved