Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

फोटो स्टोरी / उर्मिला ने मछलियां बेचीं, उमा के लिए सभा में 3 कुर्सियां बदलनी पड़ीं

Dainik Bhaskar

Apr 18, 2019, 01:55 PM IST

मुंबई. बॉलीवुड एक्ट्रेस और पश्चिम मुंबई से कांग्रेस की उम्मीदवार उर्मिला मातोंडकर बुधवार को मछुआरों से वोट मांगने बोरीवली पहुंचीं। यहां वे मछुआरों के साथ मछली काटती और उन्हें बेचते दिखीं। इससे पहले उर्मिला चुनाव प्रचार के दौरान कांदिवली में क्रिकेट खेलती नजर आईं थीं।

उर्मिलागुड़ी पड़वा पर्व परगजरा और ट्रेडिशनल लुक में नजर आईं थी। वे मंजीरा बजाते मुंबई की सड़कों पर खूब नाचीं।उन्होंने इस मौके पर ढोल भी बजाया था।

  • छत्तीसगढ़: उमा को बैठने में हुई परेशानी, तीन बार कुर्सियां बदलीं

    बिलासपुर. पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने रतनपुर में सभा की। मंच पर कुर्सियां असुविधाजनक होने के कारण उमा भारती को परेशानी हुई। आयोजकों को उमा के लिए तीन बार कुर्सियां बदलनी पड़ीं। इस दौरान उमा भारती ने भूपेश सरकार पर निशाना साधा। कहा- छत्तीसगढ़ में भाजपा की सरकार क्या गई, रौनक ही चली गई। कांग्रेस ने विधानसभा में किए वादे पूरे नहीं किए, इससे लोगों में नाराजगी है। लोकसभा चुनाव में जनता हमें (भाजपा) वापस लाना चाहती है।

  • मप्र: टिकट मिलने के बाद महाकाल दर्शन करने पहुंचीं प्रज्ञा

    उज्जैन (मध्यप्रदेश). भाेपाल लोकसभा से भाजपा प्रत्याशी बनाए जाने के बाद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर बुधवार रात महाकाल दर्शन करने पहुंचीं। यहां उन्हाेंने बाबा के दर्शन कर जीत की कामना की। मीडिया से चर्चा में उन्हाेंने कहा, "वे कांग्रेस के प्रत्याशी दिग्विजय सिंह काे किसी प्रकार की चुनाैती नहीं मानती हैं। उनके लिए ये चुनाव धर्म और अधर्म के यद्ध जैसा हैं, इसमें निश्चित ही धर्म की जीत हाेगी, जाे केवल धर्म का नाटक करते हैं वे सफल नहीं हाेंगे।" 

     

    उज्जैन से पुराना नाता, 1998 में यहां लाठीचार्ज में घायल हुई थीं प्रज्ञा 
    साध्वी का उज्जैन से पुराना नाता रहा है। भाजपा नेता जयप्रकाश जूनवाल बताते हैं कि 1996-97 में साध्वी उज्जैन में एबीवीपी की संगठन मंत्री रही थीं। 1998 में मिस मालवा प्रतियाेगिता का विरोध किया था, तब पुलिस लाठीचार्ज में घायल होने के बाद जिला अस्पताल में भर्ती हुई थीं।

  • केरल: राहुल ने तिरुनेल्ली में पूजा की

    वायनाड. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बुधवार को केरल के वायनाड पहुंचे। यहां उन्होंने तिरुनेल्ली मंदिर में पूजा-अर्चना की। इसी मंदिर के पास स्थित पापनाशिनी नदी में राहुल के पिता राजीव गांधी की अस्थियां विसर्जित की गई थीं। 

     

    राहुल ने यहां एक चुनावी रैली को भी संबोधित किया। राहुल ने कहा- ''मैं यहां आपके बीच कोई राजनेता की तरह मिलने नहीं आया हूं, जो आपसे यह कहे कि क्या करना है और क्या नहीं? मैं यहां अपने मन की बात करने भी नहीं आया हूं, बल्कि यहां मैं यह समझने आया हूं कि आपके दिल में और आत्मा में क्या है।'' राहुल उत्तर प्रदेश की अमेठी लोकसभा सीट के अलावा वायनाड से भी चुनाव भी लड़ रहे हैं।

  • उत्तरप्रदेश: योगी ने दलित के घर खाना खाया

    अयोध्या. उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को अयोध्या में दलित बस्ती का दौरा किया और दलित परिवार के घर खाना खाया। योगी ने दलित बस्ती सुतहटी में पीएम आवास योजना के लाभार्थी महावीर के घर गुड़-चना खाया। परिवार के कहने पर उन्होंने भोजन भी किया। खाने में तोरई की सब्जी और एक रोटी खाई। इससे पहले परिवार ने माला पहनाकर आरती उतारकर स्वागत किया। यहां उन्होंने हनुमानगढ़ी और रामलला के दर्शन-पूजन के साथ संतों से मुलाकात की। आचार संहिता के उल्लंघन में निर्वाचन आयोग ने योगी पर 72 घंटे प्रचार न करने की हिदायत दी है। सीएम अयोध्या से बलरामपुर भी गए।

  • राजस्थान: चुनावी सभा में स्वच्छता का रखा ध्यान

    जयपुर.  नेता आते हैं, मंच पर भाषण देकर चले जाते हैं...पीछे की तैयारियां कुछ यूं होती हैं...पीपी चौधरी की पिछले दिनों हुई नामांकन सभा का दृश्य है। सभा मंच के प्रवेश के पास ही गंदा नाला उफन रहा है। शहर में भाजपा का बोर्ड है। स्वच्छ भारत का नारा भी भाजपा का। और सभा भी भाजपा की। कोई पॉलीटिशियन इसमें गिर ना पड़े, इसलिए एक वॉलिंटियर यही ध्यान रखता रहा। स्थानीय निकाय निगरानी में बैठा रहा।

  • गुजरात: बाथरूम चप्पल में भाषण देती नजर आईं स्मृति

    राजकोट. बुधवार को केंद्रीय मंत्री और अमेठी से भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी की गुजरात में चार रैलियां थीं। आखिरी रैली राजकोट में रात 9 बजे हुई। दिनभर सफर-रैली की थकान और गर्मी से परेशान स्मृति बाथरूम चप्पल में भाषण देती नजर आईं। अमेठी में स्मृति का मुकाबला कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से होगा। 2014 में वे राहुल से हार गई थीं। 

  • छत्तीसगढ़: ये जड़ी-बूटी बेचने वाले नहीं, प्रत्याशी हैं

    कोरबा. ये हैं रामदयाल उरांव। पेशे से मड़वारानी मंदिर के सेवक हैं। फिलहाल कोरबा लोकसभा के निर्दलीय उम्मीदवार हैं। बाइक ही उनका प्रचार वाहन है। बाकायदा इसकी अनुमति ले रखी है और बाइक पर लगाकर चलते हैं। तो उरांव की बाइक पर लटके थैले और उनका हाव-भाव ऐसा है कि जैसे ही वे किसी भीड़भरे जगह में माइक निकालते हैं तो लोग समझ बैठते हैं कि वे जड़ी-बूटी या देसी दवा बेचने वाले हैं। जब वे वोट मांगते हैं, तब लोगों को समझ में आता है कि वे प्रत्याशी हैं। उरांव का भाषण भी बड़ा रोचक है। ठेठ देहाती लहजे में कहते हैं-सबने विकास के नाम पर अपनी आलमारी भरी। आपको विकास चाहिए तो मेरे आलमारी निशान पर बटन दबाईएगा।

     

    पांचवें स्थान पर रहे विधानसभा चुनाव में 
    उरांव का यह दूसरा चुनाव है। इससे पहले विधानसभा चुनाव भी लड़ चुके हैं। रामपुर सीट से उरांव ने चुनाव लड़ा। इसमें उन्हें 1842 वोट मिले थे और पांचवें स्थान पर रहे। उरांव को कलेक्टर ने कहा था कि जिस गाड़ी से प्रचार करोगे, उसकी अनुमति लेनी होगी। उरांव के पास बाइक है, इसलिए बाइक पर ही अनुमति पत्र लगाकर घूम रहे हैं।

  • बंगाल: सबसे ऊंचे बूथ पर 793 वोटरों के लिए पीठ पर पहुंचीं ईवीएम

    दार्जीलिंग. भारत-नेपाल की सीमा के पास स्थित श्रीखोला बंगाल का सबसे ऊंचा पोलिंग बूथ है। यह 9200 फीट की ऊंचाई पर है। यहां आज दार्जीलिंग लोकसभा के लिए मतदान होना है। यहां पहुंचने का एकमात्र तरीका पैदल यात्रा ही है। इसलिए 793 वोटरों के लिए ईवीएम और वीवीपैट पीठ पर लादकर पहुंचाई गई। सबसे नजदीकी गांव रिमबिक से 12 किलोमीटर चलकर यहां पहुंचना पड़ता है। 

Share
Next Story

जम्मू-कश्मीर / एलओसी पर पाक के साथ व्यापार स्थगित, भारत ने कहा- इस रास्ते का गलत इस्तेमाल हो रहा

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News