Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

बयान/ मिशेल की तरह वापस लाए जाएंगे माल्या-नीरव-चौकसी, पाई-पाई वसूल करेगी सरकार: जावड़ेकर

Dainik Bhaskar | Jan 22, 2019, 02:18 PM IST

  • 3600 करोड़ के अगस्ता-वेस्टलैंड घोटाले में बिचौलिए क्रिश्चियन का प्रत्यर्पण हुआ
  • 13,700 करोड़ रुपए के पीएनबी घोटाले में आरोपी हैं नीरव मोदी और मेहुल चौकसी
  • शराब कारोबारी माल्या भगोड़ा घोषित है, उस पर 17 बैंकों के 9 हजार करोड़ रुपए बकाया
  • माल्या मार्च 2016 में लंदन भाग गया था, नीरव-चौकसी जनवरी 2018 में विदेश भागे थे

जयपुर. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि मेहुल चौकसी, नीरव मोदी और विजय माल्या जैसे भगोड़ों को भी क्रिश्चियन मिशेल की तरह भारत वापस लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार इनसे जनता की लूटी हुई पाई-पाई वसूल करेगी। जावड़ेकर 13,700 करोड़ रुपए के पीएनबी घोटाले के आरोपी मेहुल चौकसी के भारतीय पासपोर्ट सरेंडर करने पर पूछे गए सवाल पर जवाब दे रहे थे। इस घोटाले में नीरव मोदी भी आरोपी है। उधर, माल्या पर भारतीय बैंकों का 9 हजार करोड़ बकाया है। तीनों देश छोड़कर भाग चुके हैं।Advertisement

 

3600 करोड़ रुपए के अगस्ता-वेस्टलैंड घोटाले में क्रिश्चियन मिशेल ने बिचौलिए की भूमिका निभाई थी। भारत सरकार ने दुबई से मिशेल का प्रत्यर्पण कराया था।

कांग्रेस सरकार में नहीं भागे, मोदी के आने पर भाग गए: जावड़ेकर

  1. केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री ने कहा, "पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने बैंकों पर दबाव बनाया था ताकि मेहुल चौकसी, नीरव मोदी और विजय माल्या को बिना सिक्युरिटी के लोन दिया जाए। जब तक कांग्रेस सरकार थी, ये लोग देश छोड़कर नहीं भागे।'

    Advertisement

  2. जावड़ेकर ने कहा कि मोदी सरकार के आने के बाद माल्या, नीरव और चौकसी को इस बात का अहसास हो गया कि अब ऐसा नहीं हो पाएगा और वे देश छोड़कर भाग गए। 

  3. उन्होंने कहा कि जिस तरह से भारत सरकार ने क्रिश्चियन मिशेल का प्रत्यर्पण कराया, ठीक उसी तरह से माल्या-नीरव-चौकसी को सबक सिखाया जाएगा। भारत और विदेशों में स्थित उनकी संपत्तियां जब्त की जाएंगी।

  4. कौन है क्रिश्चियन मिशेल?

    मिशेल अगस्ता-वेस्टलैंड में 1980 से काम कर रहा था। उसके पिता भी कंपनी में भारतीय क्षेत्र के मामलों के लिए सलाहकार रहे थे। सीबीआई का कहना है कि मिशेल का भारत का काफी आना-जाना था। वह रक्षा सौदों में वायुसेना और रक्षा मंत्रालय के बीच बिचौलिए की भूमिका निभाता था।

  5. मिशेल पर इस हेलिकॉप्टर सौदे में 225 करोड़ रुपए की दलाली लेने का आरोप है। इस मामले में पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी भी आरोपी हैं।

  6. उसके खिलाफ 24 सितंबर 2015 को गैर जमानती वॉरंट जारी किया गया था। फरवरी 2017 में उसके खिलाफ इंटरपोल ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया। मिशेल को दुबई पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इसके बाद से वह यूएई की जेल में ही था।

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended

Advertisement