डीएलएफ / केपी सिंह ने पूर्णकालिक निदेशक का पद छोड़ा, गैर-कार्यकारी चेयरमैन की भूमिका में रहेंगे

केपी सिंह। (फाइल)

  • डीएलएफ के बोर्ड ने कहा- कंपनी को केपी सिंह के अनुभव का लाभ मिलता रहना चाहिए
  • मार्केट कैपिटलाइजेशन में डीएलएफ देश की सबसे बड़ी रिएल एस्टेट कंपनी

Dainik Bhaskar

Aug 20, 2019, 12:01 PM IST

नई दिल्ली. केपी सिंह (88) ने डीएलएफ के पूर्णकालिक निदेशक (चेयरमैन)पद से इस्तीफा दे दिया है। कंपनी ने सोमवार को यह जानकारी दी। हालांकि, वे गैर-कार्यकारी चेयरमैन की भूमिका में रहेंगे। 15 अगस्त 1931 को जन्मे केपी सिंह को 2010 में पद्मभूषण मिला था।

शेयरधारकों ने फिर से नियुक्ति की मंजूरी दी थी

  1. डीएलएफ ने बताया कि 30 जुलाई को एजीएम में शेयरधारकों ने पूर्णकालिक निदेशक पदनाम चेयरमैन के तौर पर केपी सिंह की फिर से नियुक्ति की मंजूरी दी थी। उनका 5 साल का कार्यकाल 1 अक्टूबर 2018 से प्रभावी माना जाता। लेकिन, सिंह ने इनकार कर दिया।

  2. हालांकि, कंपनी बोर्ड की अपील पर सिंह गैर कार्यकारी चेयरमैन की भूमिका के लिए तैयार हो गए। डीएलएफ बोर्ड ने कहा था कि केपी सिंह के अमूल्य अनुभव का लाभ कंपनी को मिलता रहना चाहिए।

  3. मार्केट कैपिटलाइजेशन में डीएलएफ देश की सबसे बड़ी रिएल एस्टेट कंपनी है। देशभर में इसने कई हाउसिंग और कमर्शियल प्रोजेक्ट तैयार किए हैं। कंपनी का ज्यादातर बिजनेस गुरुग्राम में है।

Share
Next Story

अयोध्या / सुप्रीम कोर्ट में रामलला के वकील ने कहा- विवादित जगह पर मस्जिद बनाने के लिए मंदिर ढहाया गया था

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News