हरियाणा / खट्टर मंत्रिमंडल का पहला विस्तार; 6 कैबिनेट और 4 राज्यमंत्रियों ने शपथ ली, विभागों का बंटवारा हुआ

  • हरियाणा विधानसभा चुनाव में भाजपा को 40 और जजपा को 10 सीटें मिली थीं, 7 निर्दलीय भी भाजपा के साथ
  • 27 अक्टूबर को मनोहर लाल खट्टर ने मुख्यमंत्री और जजपा के दुष्यंत चौटाला ने उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी
  • मुख्यमंत्री खट्टर के पास वित्त मंत्रालय समेत वो सभी विभाग जो किसी मंत्री को नहीं मिले, उप-मुख्यमंत्री चौटाला को मिले10 से ज्यादा विभाग

Dainik Bhaskar

Nov 14, 2019, 09:59 PM IST

चंडीगढ़. मनोहर लाल खट्टर ने मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने के 18 दिन बाद गुरुवार को पहला मंत्रिमंडल विस्तार किया। 6 कैबिनेट और 4 राज्यमंत्रियों में खट्टर ने हर वर्ग को प्रतिनिधित्व देने की कोशिश की है। 3 मंत्री जाट, 2 पंजाबी, 2 अनुसूचित जाति, एक यादव और एक गुर्जर समाज से है। खट्टर खुद पंजाबी हैं और उनके साथ शपथ लेने वाले डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला जाट हैं।


इस विस्तार के बाद खट्टर समेत कैबिनेट में 12 मंत्री हो गए हैं। खट्टर सरकारने मंत्रियों में विभागों का बंटवारा कर दिया है। 90 सीटों वाली विधानसभा में अभी दो मंत्री और बनाए जा सकते हैं। 40 सीटें जीतने वाली भाजपा ने जजपा (10 सीट) और निर्दलीय (7) के समर्थन से सरकार बनाई है।दुष्यंत चौटाला सबसे पढ़े-लिखे, उन्होंने पत्रकारिता में पीजी किया है। मूलचंद शर्मा भी पोस्ट ग्रेजुएट। कमलेश ढांडा और कंवर पाल गुर्जर 12वीं पास। मुख्यमंत्री खट्टर समेत बाकी सात मंत्री ग्रेजुएट हैं।

किस पार्टी से कितने मंत्री
भाजपा:
अनिल विज (कैबिनेट मंत्री), कंवर पाल गुर्जर (कैबिनेट मंत्री), मूलचंद शर्मा (कैबिनेट मंत्री), जेपी दलाल (कैबिनेट मंत्री), बनवारी लाल (कैबिनेट मंत्री), ओम प्रकाश यादव (राज्यमंत्री), श्रीमती कमलेश ढांडा (राज्य मंत्री), संदीप सिंह (राज्यमंत्री)।
जजपा: अनूप धानक (राज्यमंत्री)।
निर्दलीय: रणजीतसिंह (कैबिनेट मंत्री)।

मंत्री विभाग
मनोहर लाल खट्टर, मुख्यमंत्री वित्त मंत्रालय समेत वो सभी विभाग जो किसी मंत्री को नहीं दिए गए
दुष्यंत चौटाला, उप मुख्यमंत्री राजस्व एवं आपदा प्रबंधन, आबकारी और कर, विकास एवं पंचायतें, उद्योग और वाणिज्य, सार्वजनिक निर्माण, खाद्य नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामले, श्रम एवं रोजगार, नागर विमानन, पुनर्वास, समेकन
अनिल विज गृह, नगरीय प्रशासन, स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा, आयुष, तकनीकि शिक्षा, विज्ञान एवं तकनीकि
कंवर पाल गुर्जर शिक्षा, वन, पर्यटन, संसदीय कार्य
मूल चंद्र शर्मा परिवहन, खनन, कौशल विकास, कला एवं संस्कृति
रणजीत सिंह ऊर्जा, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा, जेल
जेपी दलाल कृषि एवं किसान विकास, पशुपालन एवं डेयरी, मत्स्य, कानून एवं न्याय
बनवारी लाल सहकारिता, अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण
ओमप्रकाश यादव (स्वतंत्र प्रभार) समाजिक न्याय एवं अधिकारिता, सैनिक एवं अर्ध सैनिक कल्याण
श्रीमति कमलेश ढांडा महिला और बाल विकास, अभिलेखागार
अनूप धानक पुरातत्व और संग्रहालय(स्वतंत्र प्रभार), श्रम एवं रोजगार
संदीप सिंह खेल एवं युवा मामले, प्रकाशन एवं मुद्रण

आंकड़ों में खट्टर कैबिनेट

  • 56.7 वर्ष औसत आयु
  • 17.42 करोड़ औसत संपत्ति
  • 31 साल के दुष्यंत चौटाल सबसे युवा
  • 73 वर्ष के रंजीत सिंह सबसे बुजुर्ग, वे रिश्ते में दुष्यंत के दादा
  • 76.75 करोड़ संपत्ति वाले जेपी दलाल सबसे अमीर
  • 1.17 करोड़ संपत्ति वाले अनिल विज, कैबिनेट में सबसे कम

24 अक्टूबर को नतीजे आए, भाजपा 40 सीटें जीती

पार्टी नतीजे
भाजपा 40
कांग्रेस 31
जजपा 10
हलोपा 01
इनेलो 01
निर्दलीय

07

सरकार बनाने के लिए बहुमत का आंकड़ा 46

Share
Next Story

शेयर बाजार / सेंसेक्स 229 अंक गिरकर 40116 पर, निफ्टी 73 प्वाइंट नीचे 11840 पर बंद

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News