Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

मर्डर केस / रोहित शेखर की मां ने कहा- बेटा और बहू में तनाव था; परिवार के सदस्यों और नौकरों से पूछताछ

पिता एनडी तिवारी के साथ रोहित शेखर। -फाइल

  • 16 अप्रैल को एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी
  • पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रोहित की दम घुटने से मौत की बात सामने आई
  • दिल्ली क्राइम ब्रांच के अधिकारियों नेरोहित शेखर की पत्नी और मांसे पूछताछ की

Dainik Bhaskar

Apr 20, 2019, 02:26 PM IST

नई दिल्ली.उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर (39) की मौत के मामले में क्राइम ब्रांच परिवार के सदस्योंऔर नौकरों से पूछताछ कर रही है। शनिवार कोरोहित की मां उज्ज्वला तिवारीने कहा कि बेटे ने प्रेम विवाह कियाथा। शादी के पहले दिन से बेटा और बहू में तनाव था। दिल्ली पुलिस कीक्राइम ब्रांच रोहित की पत्नीअपूर्वासे भी पूछताछ कर रही है।

शुक्रवार को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ था कि रोहित की मौत सामान्य नहीं थी। इसमें दम घुटने से मौत की बात सामने आई थी। इसके बाद मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई। अज्ञात के खिलाफ हत्या की धारा में केस दर्ज किया गया।

संपत्ति विवाद के एंगल से भी जांच
क्राइम ब्रांच के एक अधिकारी ने कहा कि रोहित और उनके भाई सिद्धार्थ के बीच संपत्ति विवाद सहित सभी दृष्टिकाेणाें से जांच की जा रही है। परिवार के पास उत्तराखंड और दिल्ली में करोड़ों रुपए की संपत्ति है। पुलिस सिद्धार्थ सहित घर से जुड़े 10 लोगों से पुलिस पूछताछ कर चुकी है। इसके अलावा परिवार से जुड़े 3 अन्य लोगों के सीडीआर भी खंगाले जा रहे हैं।

रोहित ने खाई थी नींद की गोली
एडिशनल सीपी रंजीव रंजन ने बताया कि 40 साल के रोहित शेखर कोटद्वार से वोट डालकर सोमवार की रात करीब 11 बजे डिफेंस कॉलोनी स्थित अपने घर लौटे थे। खाना खाने के बाद वह 11:30 बजे अपने कमरे में साेने चले गए थे। मंगलवार की शाम 4 बजे जब नौकर जगाने उनके कमरे में गया तो देखा राेहित की नाक से खून बह रहा था। उस समय मां उज्ज्वला तिवारी अस्पताल गई थीं। पत्नी अपूर्वा और चचेरा भाई सिद्धार्थ घर पर थे।

26 साल की उम्र से थे हार्ट की बीमारी से पीड़ित
रोहित शेखर तिवारी 26 साल की उम्र से ही हार्ट की बीमारी से पीड़ित थे। पहली बार वर्ष 2007 में हार्ट की सर्जरी कराई गई थी। वहीं दोबारा परेशानी होने पर 2018 में मैक्स अस्पताल में ऑपरेशन किया गया था। पुलिस सूत्रों से पता चला है कि रोहित का कमरा एक मिनी मेडिकल स्टोर बना हुआ था। चारों तरफ दवाइयां बिखरी हुई थी।

पुलिस इन सवालों की जांच करेगी

  • मंगलवार की सुबह रोहित सोकर नहीं उठे तो किसी ने उनकी सुध क्यों नहीं ली?
  • तबीयत खराब थी तो उन्हें समय पर अस्पताल क्यों नहीं ले जाया गया?
  • क्या रोहित ने कोई नशे की दवा ली थी? या फिर नींद नहीं आने पर वह अक्सर नींद की दवाएं लेते थे?
  • घर लौटते वक्त उन्होंने कौन सा नशा किया था। रोहित ने क्या नींद की गोली भी खाई थी?

2014 में एनडी तिवारी ने रोहित को बेटा स्वीकार किया था

रोहित अपने पिता एनडी तिवारी के साथ लंबे समय तक चले पितृत्व विवाद को लेकर चर्चा में आए थे। वे लंबे समय तक रोहित को अपना बेटा मानने से इनकार करते रहे थे। 2014 में तिवारी ने अदालत के आदेश के बाद रोहित को अपना बेटा स्वीकार कर लिया था। एनडी तिवारी का 93 वर्ष की आयु में 18 अक्टूबर 2018 को निधन हो गया था।

Share
Next Story

रिपोर्ट / जेट का कर्मचारियों को आदेश- मीडिया से बात ना करें, इससे बोली प्रक्रिया पर असर पड़ सकता है

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News