जयपुर / जासूसी मामले में जेल में बंद पाक कैदी की हत्या, टीवी की आवाज धीमी करने को लेकर हुआ था विवाद

जेल में जांच के लिए जाती फॉरेंसिक टीम।

  • एडिशनल पुलिस कमिश्नर लक्ष्मण गौड़ ने बताया- पत्थर से कुचलकर की गई शाकिर की हत्या
  • शाकिर को 2001 में लश्कर-ए-तैयबा के लिए जासूसी करने के मामले गिरफ्तार किया था

Dainik Bhaskar

Feb 20, 2019, 06:55 PM IST

जयपुर.जासूसी के मामले में जयपुर कीसेंट्रल जेल में बंद पाकिस्तानी नागरिकशाकिर उल उर्फ मोहम्मदहनीफ की बुधवार को हत्या कर दी गई। एडिशनल पुलिस कमिश्नर लक्ष्मण गौड़ ने बताया किपत्थर से कुचलकर हत्या की गई। चार कैदियों ने वारदात को अंजाम दिया। टीवी की आवाज को कम करने को लेकर विवाद हुआ था। इससे पहले शाकिर की मौत की सूचना के बाद पुलिस और जेल प्रशासन के उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचे थे।

वार्ड में 6 पाकिस्तानी कैदी बंद थे

शाकिर पाकिस्तान के सियालकोट का रहने वाला था। वह सेंट्रल जेल के वार्ड नंबर 10 में था। इस वार्ड में 66 कैदीहैं। इसमें शाकिर समेत 6 पाकिस्तानी कैदी थे। साथ ही 16 कैदी ऐसे भी थे, जिन्हें फांसी की सजा मिली है।

स्लीपर सेल तैयार करता था शाकिर

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शाकिर 2001 से पंजाब की जेल में बंद था। वह जेल से ही फोन के जरिए राजस्थान के कैदियों से संपर्क करता था। वह स्लीपर सेल तैयार कर रहा था। जयपुर जेल में बंद कैदी जब बाहर आते थेतोशाकिर उनकीबात पाकिस्तानी संगठनों से कराताथा।

इसमामले की जानकारी सेंट्रल आईबी द्वारा राजस्थान एटीएस को दी गई थी। एसओजी जयपुर ने 2010 में केस दर्ज किया था। ये लोग लश्कर-ए-तैयबा के लिए काम कर रहे थे। 2010-11 में कोर्ट में चालान पेश कर दिया। करीब साल भर पहले शाकिर को आजीवन कारावास की सजा हुई थी।

जयपुर सेंट्रल जेल।
Share
Next Story

राजस्थान / दुल्हन को घोड़ी पर बैठाकर नाच रहे थे घराती; ट्रक ने रौंदा, 13 की मौत

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News