Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

दिल्ली / एनडी तिवारी के बेटे रोहित की मौत के मामले में मां और नौकरों से पूछताछ

पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी और रोहित शेखर। -फाइल

  • 16 अप्रैल को संदिग्ध हालात में रोहित शेखरकी मौत हुई थी
  • शुक्रवार को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट सामने आई, हत्या का केस दर्ज
  • दिल्ली क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने रोहित के कमरे की तलाशी ली

Dainik Bhaskar

Apr 20, 2019, 10:07 AM IST

नई दिल्ली.उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहे एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की मौत के मामले में क्राइम ब्रांच ने उनकी मां उज्जवला तिवारी और घर के नौकरों से पूछताछ शुरू कर दी है। शुक्रवार को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ था कि रोहित की मौत सामान्य नहीं थी। इसके बाद मामले की जांच दिल्ली क्राइम ब्रांच को सौंपी गई। अज्ञात के खिलाफ हत्या की धारा में केस दर्ज किया गया। पुलिस के मुताबिक, 16 अप्रैल को रोहित कोसाकेत स्थित मैक्स अस्पताल लाया गया था, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था।

पुलिस ने कहा था कि रोहित की नाक से खून निकल रहा था। इस बात की जानकारी नौकर ने उसकी मां उज्ज्वला तिवारी को दी थी। रोहित की मां घर पर नहीं थीं। वह चेकअप के लिए अस्पताल गई हुई थीं। हालांकि, उज्ज्वला ने कहा था कि बेटे की मौत स्वाभाविक है। मुझे इसमें कोई भी शक नहीं है। मैं रोहित की मृत्यु के कारणों का खुलासा बाद में करूंगी कि किन हालत में ऐसा हुआ।

2014 में एनडी तिवारी ने रोहित को अपना बेटा स्वीकार किया था
रोहित अपने पिता एनडी तिवारी के साथ लंबे समय तक चले पितृत्व विवाद को लेकर चर्चा में आए थे। वे लंबे समय तक रोहित को अपना बेटा मानने से इनकार करते रहे थे। 2014 में तिवारी ने अदालत के आदेश के बाद रोहित को अपना बेटा स्वीकार कर लिया था। एनडी तिवारी का 93 वर्ष की आयु में 18 अक्टूबर 2018 को निधन हो गया था।

Share
Next Story

इलेक्शन खास / रिसर्च: चुनाव में जहां शिक्षकों की ड्यूटी वहां कम गलतियां

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News