पेमेंट विवाद / सुप्रीम कोर्ट ने कहा- अनिल अंबानी 4 हफ्ते में एरिक्सन को 453 करोड़ चुकाएं नहीं तो 3 महीने की जेल होगी

आरकॉम के चेयरमैन अनिल अंबानी।

  • अंबानी की कंपनी परएरिक्सन के 550 करोड़ बकाया, कोर्ट ने भुगतान के आदेशदिए थे
  • पेमेंट नहीं मिलने पर एरिक्सन ने अवमानना याचिका लगाई थी, कोर्ट ने अंबानी को दोषी ठहराया
  • अनिल अंबानी के ग्रुप की 3कंपनियों पर 1-1 करोड़ रुपए का जुर्माना भी लगा

Dainik Bhaskar

Feb 20, 2019, 04:11 PM IST

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने एरिक्सन कंपनी को भुगतान से जुड़े विवाद में रिलायंस कम्युनिकेशंस (आरकॉम) के चेयरमैनअनिल अंबानी को कोर्ट की अवमानना का दोषी ठहराया है। अदालत ने अनिल अंबानी समूह की दूसरी कंपनी रिलायंस टेलीकॉम के चेयरमैन सतीश सेठ और रिलायंस इन्फ्राटेल की चेयरपर्सन छाया विरानी को भी दोषी माना है। आरकॉम पर एरिक्सन के 550 करोड़ रुपए बकाया हैं। उसने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक तय समय पर भुगतान नहीं किया।


कोर्ट ने कहा है कि एरिक्सन को 4 हफ्ते में 453 करोड़ रुपए का भुगतान किया जाए। चूक हुई तो अनिल अंबानी, सतीश सेठ और छाया विरानी को 3 महीने की जेल होगी। फैसले के वक्त तीनों अदालत में मौजूद थे। कोर्ट ने 13 फरवरी को फैसला सुरक्षित रखा था।

1-1 करोड़ रु काजुर्माना नहीं भरा तो 1 महीने की अतिरिक्त जेल होगी

कोर्ट ने आरकॉम, रिलायंस टेलीकॉम और रिलायंस इन्फ्राटेल पर 1-1 करोड़ रुपए की पेनल्टी भी लगाई है। 4 हफ्ते में कोर्ट की रजिस्ट्री में जुर्माने की रकम जमा नहीं हुई तो 1 महीनेअतिरिक्त जेल की सजा भुगतनी पड़ेगी। अदालत ने निर्देश दिएहैं कि रिलायंस समूह ने कोर्ट की रजिस्ट्री में जो 118 करोड़ रुपए पहले जमा किए थे वो एरिक्सन को जारी कर दिए जाएं।

आरकॉम ने कहा है कि हम सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं। इसका पालन किया जाएगा।

क्या है पूरा विवाद ?
एरिक्सन ने 2014 में आरकॉम का टेलीकॉम नेटवर्क संभालने के लिए 7 साल की डील की थी। इस मामले में उसका आरोप थाकि आरकॉम ने 1,500 करोड़ रुपए की बकाया रकम नहीं चुकाई। पिछले साल दिवालिया अदालत में सेटलमेंट प्रक्रिया के तहत एरिक्सन इस बात के लिए राजी हुई कि आरकॉम सिर्फ 550 करोड़ रुपए का भुगतान कर दे। सुप्रीम कोर्ट ने आरकॉम को 15 दिसंबर तक भुगतान करने के आदेश दिए थे। उसने पेमेंट नहीं किया। इसलिए एरिक्सन ने सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका दायर की थी।

अनिल अंबानी की कंपनियों के शेयर 10% तक गिरे
कोर्ट के फैसले के बाद शेयरों में तेज गिरावट आई। बीएसई पर रिलायंस कैपिटल का शेयर 10.26% लुढ़क गया। आरकॉम में 6% से ज्यादा गिरावट आ गई। कारोबार के दौरान रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर में 8.75% नुकसान दर्ज किया गया। रिलायंस पावर 5.52% और रिलायंस होम फाइनेंस 5% टूट गया। हालांकि, बाद में कुछ रिकवरी हो गई।

दिवालिया होना चाहती है आरकॉम, कंपनी पर46,000 करोड़ रुका कर्ज
नकदी के संकट से जूझ रही आरकॉम ने पिछले दिनों कहा था कि वह संपत्ति बेचकर कर्ज चुकाने में विफल रही है। ऐसे में कंपनी के बोर्ड ने इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड (आईबीसी) के तहत एनसीएलटी के जरिए फास्ट-ट्रैक रेजोल्यूशन प्रोसेस में जाने का विकल्प चुना है। कंपनी बोर्ड का मानना है कि यह कदम सभी संबंधित पक्षों के हित में होगा। इससे 270 दिन की तय अवधि में आरकॉम की संपत्ति बेचकर कर्ज के भुगतान की पारदर्शी प्रक्रिया सुनिश्चित हो सकेगी। आरकॉम पर 46,000 करोड़ रुपए का कर्ज है।कंपनी मोबाइल बिजनेस से पूरी तरह बाहर हो चुकी है।

Share
Next Story

कूटनीति / सऊदी अरब भारत में पाक से 5 गुना ज्यादा निवेश करेगा; प्रिंस सलमान बोले- आतंक के खिलाफ लड़ाई में हम साथ

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News