पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जेल में चिदंबरम को दिए जा रहे इलाज से परिवार संतुष्ट नहीं, कहा- उनका 8-9 किलो वजन कम हुआ

9 महीने पहले
पी. चिदंबरम। (फाइल)
  • पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम आईएनएक्स मीडिया के भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग केस में तिहाड़ जेल में बंद हैं
  • चिदंबरम क्रोन्स बीमारी से पीड़ित हैं, इसमें मरीज की पाचन नली में जलन, पेट दर्द और वजन कम होने जैसी समस्या होती है
  • चिदंबरम पेटदर्द की शिकायत पर दो बार एम्स ले जाए जा चुके हैं
No ad for you

नई दिल्ली. आईएनएक्स मीडिया केस में तिहाड़ जेल में बंद पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को अब तक राहत नहीं मिल पाई है। दिल्ली कोर्ट ने बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय की याचिका पर उनकी कस्टडी 27 नवंबर तक बढ़ा दी। इसी बीच, चिदंबरम के परिवार ने तिहाड़ जेल में उन्हें मिल रहे इलाज पर असंतुष्टि जताई। परिवार का कहना है कि क्रोन्स डिजीज की वजह से उनका वजन लगातार घट रहा है। 

1) दिल्ली हाईकोर्ट जल्द सुना सकता है जमानत याचिका पर फैसला

न्यूज एजेंसी से बातचीत में परिवार ने कहा, “चिदंबरम के जेल जाने के बाद से ही उनका वजन 8-9 किलो घट चुका है। उन्हें काफी कष्ट उठाने पड़ रहे हैं। उन्हें तुरंत हैदराबाद के जाने-माने गैस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट डॉक्टर नागेश्वर रेड्डी को दिखाए जाने की जरूरत है, क्योंकि उन्होंने 2016 में चिदंबरम का इलाज किया है और वे उनके स्वास्थ्य के बारे में अच्छी तरह जानते हैं।”

परिवार के सूत्रों के मुताबिक, “डॉ. रेड्डी से इलाज के बाद उन्हें बेहतर महसूस हुआ था। हम अभी दिल्ली हाईकोर्ट में उनकी जमानत याचिका पर आदेश का इंतजार कर रहे हैं। हाईकोर्ट ने 8 नवंबर को ही जमानत पर फैसला सुरक्षित रख लिया था।”

चिदंबरम को 21 अगस्त को आईएनएक्स मीडिया केस में मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े आरोपों पर गिरफ्तार कर लिया गया था। बुधवार को वकीलों की हड़ताल की वजह से उन्हें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उन्हें कोर्ट के सामने पेश किया गया। 

चिदंबरम 5 सितंबर से जेल में बंद हैं। पिछले महीने 28 तारीख को उनकी तबियत बिगड़ गई थी, जिसके बाद उन्हें ऑल इंडिया इन्स्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (एम्स) ले जाया गया। बताया गया था कि चिदंबरम ने पेट में दर्द की शिकायत की थी। एम्स में डॉक्टरों ने चिदंबरम का परीक्षण के बाद कोई गंभीर परेशानी न होने की बात कही थी। इससे पहले 5 अक्टूबर को भी पेट दर्द की शिकायत के बाद एम्स ले जाया गया था। 

No ad for you

देश की अन्य खबरें

Copyright © 2020-21 DB Corp ltd., All Rights Reserved