आंध्र प्रदेश / वर्ल्ड बैंक ने अमरावती को राजधानी बनाने के लिए 2065 करोड़ रुपए का कर्ज देने का फैसला वापस लिया

वर्ल्ड बैंक। -फाइल

  • नई राजधानी के निर्माण का खर्च करीब 4923 करोड़ रु., सरकार ने इसका प्रस्ताव वर्ल्ड बैंक के पास भेजा था
  • इस प्रोजेक्ट के लिए फिलहालएआईआईबी 1376 करोड़ रु.का कर्ज देगा
  • किसान संगठनों की आपत्ति के बाद सरकार ने प्रस्ताव वापस लिया, कोई कारण नहीं बताया

Dainik Bhaskar

Jul 19, 2019, 09:48 PM IST

नई दिल्ली. वर्ल्ड बैंक ने आंध्र प्रदेश की प्रस्तावित राजधानी अमरावती के निर्माण के लिए करीब2065 करोड़ रुपए काकर्ज देने की योजना रद्द कर दी है। वर्ल्ड बैंक के अधिकारी के मुताबिक यह फैसला सरकार के प्रस्ताव वापस लेने के बाद लिया गया है। हालांकि सरकार ने ऐसा क्यों किया? इसका कोई कारण नहीं बताया गया है।

रिपोर्ट के अनुसार इस प्रोजेक्ट का नामअमरावती सस्टेनेबल कैपिटल सिटी डेवलपमेंट है। वेबसाइट के मुताबिक- प्रस्तावित राजधानी के निर्माण के लिए इसपरियोजना पर करीब 4923 करोड़ रुपए खर्च होना है। इसमेंकरीब 2065 करोड़ रुपए वर्ल्ड बैंक मुहैया करवाने वाली थी। जबकि1376 करोड़ रुपए का कर्जएशियन इन्फ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट बैंक (एआईआईबी) देगी। बीजिंग स्थित यह बैंक इस परियोजना की सहयोगीहै।

सिविल सोसाइटी ने आपत्ति जताई थी

इस परियोजना पर राज्य के पर्यावरणकार्यकर्ताओं, किसान नेताओं और सिविल सोसाइटी संगठनों ने आपत्ति दर्ज कराई थी। उनका कहना था कि इससे कृष्णा नदी के पानी मेंउफान आएगा, जिससे खेती योग्य उपजाऊ भूमि और जंगलों कानुकसान होगा। भूमि अधिग्रहण से करीब 20 हजार लोगों पर विस्थापन का खतरा मंडराएगा।

2017 में पैनल को चिट्‌ठी लिखा था
प्रस्तावित शहर के आसपास के रहवासियों ने वर्ल्ड बैंक के निरीक्षण पैनल को 25 मई 2017 को एक पत्र लिखा था। इसमें प्रोजेक्ट निर्माण से लोगों की आजीविका, पर्यावरण, खाद्य सुरक्षा और पुनर्वास की समस्याएं उत्पन्न होने का जिक्र किया था। उन्होंने इस कार्य में पर्यावरणऔर सामाजिक मानदंडों का पालन नहीं करने की बात भी कही थी।

Share
Next Story

रिपोर्ट / सरकार एयर इंडिया की पूरी हिस्सेदारी बेच सकती है, अमित शाह की अध्यक्षता में नया पैनल गठित

Next

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended News