Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

4 पदों के लिए 23 उम्मीदवार मैदान में, 1.35 लाख स्टूडेंट्स वोट देकर तय करेंगे किस्मत

दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव के लिए प्रचार मंगलवार दोपहर 12 बजे खत्म हो गया। सभी प्रत्याशी और उनके संगठनों...

Bhaskar News Network | Sep 12, 2018, 02:11 AM IST
दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव के लिए प्रचार मंगलवार दोपहर 12 बजे खत्म हो गया। सभी प्रत्याशी और उनके संगठनों ने प्रचार के दौरान अपने-अपने तरीके से छात्रों को अपने पक्ष में वोटिंग के लिए अपील की। यहां तक की कांग्रेस, भाजपा और आप के नेताओं ने भी सोशल मीडिया और अन्य तरीकों से छात्रों से संपर्क करके अपनी छात्र ईकाई के लिए वोट मांगे। बुधवार को मॉर्निंग कॉलेजों में सुबह 8:30 बजे और इवनिंग कॉलेजों में शाम 3 बजे वोटिंग शुरू होगी। डूसू चुनाव के 4 पदों के लिए 23 उम्मीदवार मैदान में हैं। डीयू के डूसू से संबद्ध 52 कॉलेज के 1.35 लाख छात्र मतदाता हैं। सोमवार देर रात पर्चे बांटकर प्रचार करने की अवधि समाप्त हो गई थी। जबकि मंगलवार को केवल मिलकर ही वोट करने की अपील कर सकते थे। पहले प्रचार के लिए सोमवार शाम 5 बजे तक का समय तय था लेकिन छात्र संगठनों की अपील पर चुनाव समिति ने समय बढ़ा दिया था। मतगणना 13 सितंबर को सुबह 8:30 बजे से किंग्सवे कैंपस पुलिस लाइन में शुरू होगी। मतगणना के लिए अतिरिक्त पुलिस बल की व्यवस्था की गई है।

52

चुनाव समिति की प्रवक्ता पिंकी शर्मा ने बताया कि मतदान के लिए 52 केंद्र बनाए गए हैं। इनमें से 12 केंद्रों में नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए हैं। जिनमें दक्षिण परिसर, शहीद भगत सिंह कॉलेज, श्यामा प्रसाद मुखर्जी कॉलेज, आयुर्वेदिक एवं तिब्बिया कॉलेज, भगिनी निवेदिता कॉलेज, इंदिरा गांधी शारीरिक शिक्षा एवं खेल विज्ञान संस्थान, श्याम लाल कॉलेज, लक्ष्मीबाई कॉलेज, किरोड़ीमल कॉलेज, उत्तरी परिसर, देशबंधु कॉलेज और अदिति महाविद्यालय शामिल हैं। मतदान के लिए 760 इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का उपयोग किया जाएगा। एक सितंबर तक दाखिला लेने वाले सभी विद्यार्थी मत दे सकेंगे।

वोटिंग के लिए मिलेगा साढ़े चार घंटा का समय

वोटिंग के लिए सुबह और शाम की शिफ्ट के लिए साढ़े चार घंटा का समय तय किया गया है। सुबह शिफ्ट के स्टूडेंट्स सुबह 8.30 बजे से दोपहर 1 बजे वोट डाल सकेंगे। जबकि शाम की शिफ्ट के लिए वोटिंग डालने की प्रक्रिया 3 बजे से शुरू होगी और 7.30 बजे तक स्टूडेंट्स वोट डाल सकेंगे।

केंद्रों में मतदान करेंगे डूसू स्टूडेंट्स।

दिल्ली पुलिस ने किए सुरक्षा के कड़़े इंतजाम

डूसू इलेक्शन के दौरान किसी अनहाेनी घटना से निपटने के लिए दिल्ली पुलिस ने कड़े बंदोबस्त का इंतजाम किया है। इलेक्शन में कुछ पुलिसकर्मी छात्रों के बीच जासूस बनाकर रहेंगे। इसके लिए यंग पुलिसकर्मियों को चुना गया है। जिसमें महिला पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। डीसीपी नूपुर प्रसाद ने बताया कि इलेक्शन के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के लिए दो चरणों में रणनीति तैयार की गई है। पहला चरण वोटिंग और तीसरा काउंटिंग के दौरान की है। सुरक्षा के लिए 200 पुलिसकर्मी तैनात किए हैं। जिन्हें 8 इंस्पेक्टर रैंक का अधिकारी लीड कर रहे हैं। सुरक्षा में 60 महिला पुलिसकर्मी भी मौजूद हैं। इलेक्शन शांतिपूर्ण चुनाव के लिए उन्होंने डीयू के वीसी और छात्र संघ नेताओं के साथ कई अहम बैठकें भी की हैं। काउंटिंग के दौरान हार जीत के वक्त शांति बनाए रखने के लिए दो अतिरिक्त कंपनियां तैनात रहेंगी।

12

केंद्रों में चुनाव समिति ने बनाए नियंत्रण कक्ष।

760

ईवीएम का उपयोग होगा मतदान के लिए।

तोड़-फोड़ मामले में एनएसयूआई ने चुनाव समिति को दी शिकायत तो, एबीवीपी ने पल्ला झाड़ा

नई दिल्ली| जाकिर हुसैन कॉलेज में सोमवार को हुई घटना को लेकर एनएसयूआई ने चुनाव समिति में एबीवीपी के प्रत्याशी शक्ति सिंह के खिलाफ लिखित में शिकायत की। एबीवीपी ने इस मामले में सफाई दी है। सीवाईएसएस ने चुनाव अधिकारी को एबीवीपी और एनएसयूआई पर कैंपस में भय का माहौल बनाने का आरोप लगा शिकायत दी। एनएसयूआई की ओर से जाकिर हुसैन कॉलेज में सोमवार को प्रचार के दौरान तोड़फोड़ का वायरल वीडियो और फोटो चुनाव समिति को सौंपी गई। एनएसयूआई ने यह भी आरोप लगाए गए कि प्रचार के दौरान एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने लक्ष्मीबाई कॉलेज,अदिति कॉलेज व स्वामी श्रद्धानंद कॉलेज में भी मारपीट की।

16 कॉलेजों में शुरू किए जाएंगे नए कोर्सेज

डीयू की स्टैंडिंग कमेटी ने नए सत्र से 16 कॉलेजों में नए कोर्सेज शुरू करने को हरी झंडी दे दी है। मंगलवार को स्टैंडिंग कमिटी की बैठक हुई। इन कोर्सेज को औपचारिकता के लिए एकेडमिक काउंसिल व एग्जिक्यूटिव काउंसिल की बैठक में रखा जाएगा। दोनों जगह से कोर्सेज को हरी झंडी मिलना तय माना जा रहा है। इन कोर्सेज के शुरू होने से डीयू में करीब 1500 सीटें बढ़ जाएंगी। पहली बार बीएससी ऑनर्स (ऑपरेशनल रिसर्च व इनवायरमेंट साइंस) कोर्स की भी पढ़ाई होगी। कमेटी के सदस्य डॉ. सुरमेंद्र कुमार ने बताया कि शैक्षणिक सत्र 2019-20 में 16 कॉलेजों में अलग-अलग स्ट्रीम में नए कोर्सेज में दाखिले का विकल्प मिलेगा।

01

सितंबर तक दाखिला लेने वाले विद्यार्थी वोट दे सकेंगे।

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें