Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

रोचक/ नंदी सहित इन 6 लोगों के श्राप बने थे रावण की मृत्यु का कारण

Dainik Bhaskar | Oct 13, 2018, 03:12 PM IST
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

रिलिजन डेस्क. कभी-कभी कई ज्ञानी लोग भी ऐसी गलतियां कर देते हैं जो उनके पतन का कारण बनती हैं। ऐसा ही कुछ रावण के साथ भी हुआ था। उसे अपनी शक्ति और ज्ञान पर घमंड़ हो गया था और वो इसका दुरउपयोग करने लगा। इसके कारण इसने कई लोगों का दिल दुखाया और इन लोगों ने ही इसे श्राप देकर काल के मुंह तक पहुंचाया। आइए जानते हैं ऐसे ही श्रापों के बारे में जो रावण की मौत का कारण बने।Advertisement

ब्रह्मा जी के पुत्र थे रावण के दादा

  1. वाल्मीकि रामायण के अनुसार रावण ब्रह्मा जी की मानसिक संतान पुलस्त्य मुनि का पौत्र था अर्थात् उनके पुत्र विश्रवा का पुत्र था। विश्रवा की वरवर्णिनी और कैकसी नामक दो पत्नियां थी। वरवर्णिनी ने कुबेर को और कैकसी ने रावन को जन्म दिया था।


    - कैकसी के पिता राक्षस कुल के थे और इसी कारण रावण में भी कई राक्षसों वाले अवगुण थे। रावण के अवाला कैकसी ने कुंभकरण, विभीषण, अहिरावण, खर और दूषण का जन्म दिया।


    - रावण ने ही शिव तांडव की रखना की थी। वो तंत्र, ज्योतिष और अस्त्र-शस्त्र का ज्ञाता था। इस कारण देवता भी उससे डरते थे।

    Advertisement