Quiz banner
Loading advertisement...

कभी बसों में बेचते थे पेन, आज 70 देशों में है कारोबार

5 वर्ष पहले
Loading advertisement...
दैनिक भास्कर पढ़ने के लिए…
ब्राउज़र में ही
कहते हैं कि कुछ लोग मुंह में चांदी का चम्मच लेकर पैदा होते हैं, लेकिन कुछ ऐसे भी होते हैं जिन्हें खुद को साबित करने और अपनी मंजिल तक पहुंचने के लिए बहुत मशक्कत करनी पड़ती है। सु-कैम के फाउंडर कुंवर सचदेव की गिनती उन लोगों में की जाती है जिन्होंने अपनी मेहनत से नाम कमाया। किसी ने सोचा नहीं था एक पेन बेचने वाला कभी इतनी बड़ी कंपनी खड़ी कर देगा। आज इन्वर्टर बनाने वाली सु-कैम पावर सिस्टम लिमिटेड कंपनी दुनियाभर में अपने प्रोडक्ट सेल कर रही है। एक छोटी सी दुकान से शुरू की ये कंपनी आज 2300 करोड़ रुपए की है। बनना चाहते थे डॉक्टर, बन गए बिजनेसमैन...
 

एक मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मे कुंवर के घर की आर्थिक स्थिति बहुत मजबूत नहीं थी। पिता रेलवे में सेक्शन ऑफिसर थे और उस वक्त सेक्शन ऑफिसर की तनख्वाह ज्यादा नहीं हुआ करती थी। इसी वजह से घर की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी। कुंवर तीन भाई हैं और उनकी पढ़ाई सरकारी स्कूल में हुई हैं। कुंवर का बचपन का सपना था कि वे डॉक्टर बनें, लेकिन शायद उनकी किस्मत में बिजनेसमैन बनना था।
 

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें कुंवर सचदेव की सफलता की कहानी...
Loading advertisement...
खबरें और भी हैं...