Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

अमेरिका के पूर्वी तट से टकरा सकता है तूफान फ्लोरेंस, 10 लाख लोगों को सुरक्षित जगह ले जाने का आदेश

तूफान के चलते 220 किमी/घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी

तूफान 20 किमी/घंटे की रफ्तार से पश्चिम की तरफ बढ़ रह है।
DainikBhaskar.com | Sep 11, 2018, 12:38 PM IST

वॉशिंगटन.  अमेरिका के पूर्वी तट से गुरुवार को हरिकेन (तूफान) फ्लोरेंस टकरा सकता है। साउथ कैरोलिना सरकार ने 10 लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर ले जाने के आदेश दिए हैं। तूफान के चलते 220 किमी/घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। नॉर्थ कैरोलिना के मशहूर पर्यटक स्थल आउटर बैंक्स समेत कई स्थानों को खाली करा लिया गया है। 

साउथ कैरोलिना के गवर्नर हेनरी मैकमास्टर के मुताबिक- यह काफी ताकतवर हरिकेन है। हम कोई खतरा नहीं ले सकते। तटीय इलाकों से लोगों को बाहर निकालना स्वैच्छिक नहीं जरूरी है।

वर्जीनिया में आपातकाल लगाया : फ्लोरेंस को कैटेगरी 4 का तूफान बताया जा रहा है। यह बीते दशकों का सबसे तेज हरिकेन हो सकता है। तूफान के चलते तेज बारिश और बाढ़ की संभावना जताई जा रही है। वर्जीनिया में आपातकाल की घोषणा कर दी गई है। नेशनल हरिकेन सेंटर के मुताबिक, हरिकेन फ्लोरेंस मंगलवार और बुधवार को बरमूडा और बहामास से गुजरेगा। तूफान पश्चिम की तरफ 20 किमी/घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है और धीरे-धीरे मजबूत हो रहा है।

ट्रम्प ने रैली रद्द की : डोनाल्ड ट्रम्प ने ट्वीट करके कहा- "फ्लोरेंस काफी खतरनाक साबित हो सकता है। अफसरों की जिम्मेदारी है कि तूफान के रास्ते में आने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया जाए। नॉर्थ और साउथ कैरोलिना समेत पूरे पूर्वी तट पर रह रहे लोगों को तूफान से खतरा है। सुरक्षा के सारे उपाय जरूरी हैं।''ट्रम्प ने तूफान के चलते शुक्रवार को मिसीसिपी में होने वाली रैली रद्द कर दी। हरिकेन कैटरीना कैटेगरी 3 का तूफान था जो अगस्त 2005 में गल्फ कोस्ट से टकराया था। एक अनुमान के मुताबिक, कैटरीना से 1833 लोगों की जान चली गई थी।

आपदा के वक्त राहत के लिए सेना की गाड़ियों को तैयार किया जा रहा है। तूफान के पहले नॉर्थ कैरोलिना में जरूरत का सामान जुटाया जा रहा है।
Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें