Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

एनपीए: रघुराम राजन ने कहा- मध्यम और लघु उद्योगों का कर्ज बन सकता है मुसीबत

आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने संसदीय एस्टीमेट कमेटी को लिखे पत्र में यह चेतावनी दी

DainikBhaskar.com | Sep 11, 2018, 05:22 PM IST

 

राजन ने कहा कि मुद्रा लोन, किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम की जांच हो संसदीय समिति ने एनपीए पर राजन को बात रखने को कहा था

 

नई दिल्ली.  मध्यम और लघु उद्योगों को दिया गया लोन बैंकों के एनपीए की बड़ी वजह बन सकता है। आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने संसदीय एस्टीमेट कमेटी को लिखे पत्र में यह चेतावनी दी। उन्होंने स्मॉल इंडस्ट्रीज डवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया (सिडबी) की क्रेडिट गारंटी स्कीम पर सवाल उठाते हुए जांच की जरूरत बताई।

राजन ने कहा- सरकार को महत्वाकांक्षी लक्ष्यों से बचना चाहिए। कई बार नियमों की अनदेखी कर क्रेडिट टार्गेट पूरे किए गए। इस वजह से एनपीए बढ़ा। कृषि क्षेत्र पर गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है। कर्ज माफी के रास्ते से बचना चाहिए। आने वाले चुनावों को देखते हुए इस मुद्दे पर सभी दलों की सहमति देश हित में होगी।

कर्ज वसूली के लिए बैंकों के पास कम अधिकार: आरबीआई के पूर्व गवर्नर ने कहा, बैंकों के काम में सुधार के लिए विशेष ध्यान देने की जरूरत है, नहीं तो मर्जर और असेट बिक्री जैसे रास्ते अपनाने पड़ेंगे, जो समाधान नहीं हो सकते। बड़े कारोबारियों से कर्ज वसूली के लिए बैंकों के पास कम अधिकार हैं। पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमनियन ने एनपीए संकट की पहचान और इसे सुलझाने की कोशिश करने के लिए राजन की तारीफ की थी।

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें