--Advertisement--

अब राजस्थान पुलिस वेब पोर्टल पर एफआईआर देख सकेगा परिवादी, फोटोप्रिंट भी ले सकेगा

अब स्टेट क्राइम रिकाॅर्ड ब्यूरो, राजस्थान की अच्छी पहल के चलते परिवादी को भटकना नहीं पड़ेगा

Vishnu Sharma | Sep 12, 2018, 05:25 PM IST

- राजस्थान में एससीआरबी की पहल, एफआईआर के लिए भटकना नहीं पड़ेगा

 

जयपुर.  आमतौर पर थाने में एफआईआर दर्ज करवाने और फिर उसकी कॉपी हासिल करने के लिए परिवादी को कई चक्कर लगाने पड़ते है। लेकिन अब स्टेट क्राइम रिकाॅर्ड ब्यूरो, राजस्थान की अच्छी पहल के चलते परिवादी को भटकना नहीं पड़ेगा। वह ऑनलाइन अपनी एफआईआर देख सकेगा और उसका प्रिंट ले सकेगा।

- एससीआरबी के पुलिस अधीक्षक पंकज चौधरी ने बताया कि आम नागरिकों की सुविधा के लिए राजस्थान पुलिस पोर्टल पर किसी भी पुलिस थाने में दर्ज एफआईआर को देखने एवं उसका प्रिंट लेने की सुविधा प्रदान की गई है। आॅनलाइन व्यू एफआईआर की सुविधा से पुलिस कार्यप्रणाली में पारदर्शिता बढ़ेगी।

 

यह है ऑनलाइन एफआईआर देखने की प्रक्रिया

 

- एसपी पंकज चौधरी ने बताया कि इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए आमजन को निम्न प्रक्रिया अपनानी पड़ेगी। ताकि वह व्यावहारिक तौर पर होने वाली समस्याओं से बच सकता है। ऑनलाइन एफआईआर देखने के लिए सबसे पहले परिवादी द्वारा राजस्थान पुलिस पोर्टल की वेबसाइट पर url-police.rajasthan.gov.in से पेज को खोला जाए।
- इसके बाद राजस्थान पुलिस पोर्टल के होमपेज पर पब्लिक इंफोर्मेशन में CCTNS CITZEN PORTAL के विकल्प का चयन करने पर (View FIR एवं अन्य नागरिक सुविधाएं) का चयन करें। (किसी भी नागरिक द्वारा URL-police.rajasthan.gov.in/citizen से सीधे ही सीसीटीएनएस सिटीजन पोर्टल पेज खोला सकता है)
- View FIR एवं अन्य नागरिक सुविधाएं के विकल्प का चयन करने पर सीसीटीएनएस सिटीजन पोर्टल पर पेज खुलेगा। नागरिक का सीसीटीएनएस सिटीजन पोर्टल पर पहले से यूजर बना हुआ है तो वह लॉग इन करें अन्यथा विकल्प का चयन कर अपना यूजर बनाएं। आम नागरिक द्वारा यूजर बनाया जाकर लॉग इन किया जाए।
- लॉग इन करने के बाद होम पेज से View FIR के विकल्प का चयनन कर सीसीटीएनएस पर प्रकाशित सभी एफआईआर देखी जा सकती है एवं उसका प्रिंट निकाला जा सकता है। इस सुविधा का उपयोग करने के लिए मोजिला ब्राउजर का उपयोग ही करें।
 

24 घंटे में नि:शुल्क एफआईआर करवाने का है प्रावधान

 

- एसपी पंकज चौधरी ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार व नियमानुसार एफआईआर दर्ज होने के 24 घंटे के अंदर परिवादी को एफआईआर की कॉपी नि:शुल्क उपलब्ध करवाने का प्रावधान है। ज्यादातर देखा गया है कि परिवादी को समय पर एफआईआर की कॉपी नहीं मिलने पर या प्राप्त होने से कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

- लेकिन एससीआरबी की इस पहल का फायदा ऐसे आमजन को मिल सकेगा जो एफआईआर प्राप्त करने के लिए परेशान होते रहते है। अब वे त्वरित न्याय की समय सीमा में मांग कर सकते है।

--Advertisement--

टॉप न्यूज़और देखें

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

--Advertisement--

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें