Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

राजनीति/ बैलगाड़ी लेकर निकले कांग्रेसी विधायकों को विधानसभा के बाहर रोका गया, जमकर हंगामा

Dainik Bhaskar | Sep 12, 2018, 07:04 PM IST
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

  • विधानसभा विशेष सत्र में शामिल होने के लिए बैलगाड़ी से निकले पीसीसी अध्यक्ष सहित अन्य नेता
  • पेट्रोल, डीजल के लगातार बढ़ते दामों का जता रहे विरोध सरकार पर जनता की अनदेखी का आरोप

रायपुर.विधानसभा के विशेष सत्र में शामिल होने के लिए निकले बुधवार कोबैलगाड़ी और साइकिल से निकले कांग्रेसी विधायकों को विधानसभा के बाहर रोक देने पर जमकर हंगामा हुआ। विधायक वहीं धरने पर बैठ गए और नारेबाजी करने लगे।वहीं सुरक्षाकर्मियों नेनियमों का हवाला देकर उन्हें हटाया।कांग्रेस नेता पेट्रोल और डीजल के लगातार बढ़ते दामों का विरोध कर रहे हैं। पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल और नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव के नेतृत्व में विधायकों यह मार्च नए कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन से शुरू हुआ।Advertisement

अगर पीएम मोदी न माने, तो रमन सरकार दे राहत

  1. महिला विधायकों को रोकने, तीज के दिन बुलाया सत्र

    वहीं कांग्रेस की महिला विधायकों ने आरोप लगाया कि सरकार ने जानकर तीज के दिन विधानसभा का सत्र बुलाया है। जब एक बार मंगलवार को सत्र समाप्त हो गया था, तो दूसरे दिन बुलाने की जरूरत नहीं थी। तीज के दिन महिलाएं व्रत रखती हैं, लेकिन सरकार ने इसी दिन सत्र बुला लिया। यह सब महिला विधायकों की अनदेखी के लिए किया गया है। 

    Advertisement

  2. विधायकों के वजन से बैठे बैल, तो गिरे नेता

     

    कांग्रेस विधायक दो बैलगाड़ी पर निकले हैं। एक पर पीसीसी चीफ भूपेश बघेल सवार हैं, तो दूसरी बार विधायक मनोज मंडावी। हालात यहां तक पहुंच गए कि एक बैलगाड़ी पर 7 से 8 विधायक बैठ गए। ज्यादा वजन होने के चलते मनोज मंडावी वाली बैलगाड़ी के बैल नीचे बैठ गए। जिसके चलते  नेता गिर पड़े। इसके बाद दो बैलगाड़ी और मंगाई गई, जिसमें 4-5 विधायक बैठ कर निकले। 

  3. साइकिल पर सवार हुए नेता प्रतिपक्ष

     

    वहीं कुछ दूरी चलने के बाद नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव साइकिल पर सवार हो गए। वह खुद साइकिल चलाते हुए विधानसभा तक पहुंचे। बखूबी साइकिल चलाते देख कई लोग नेता प्रतिपक्ष के इस अंदाज पर हैरान रह गये। वहीं सत्यनारायण शर्मा, धनेंद्र साहू, कवासी लखमा, मोहन मरकाम सहित आधा दर्जन से ज्यादा कांग्रेस विधायक बैलगाड़ी से ही विधानसभा पहुंचे। 

  4. नहीं बर्दाश्त हुई धूप तो गाड़ी में बैठे नेता

     

    इस दौरान कुछ ऐसे भी विधायक और नेता थे, जिनसे धूप बर्दाश्त नहीं हुई। थोड़ा सा आगे चलते ही वह थक गए और फिर उतरकर अपनी लग्जरी गाड़ी में बैठ गए। इस दौरान एक प्रेस फोटोग्राफर ने उनकी फोटो लेनी चाही, तो भड़क उठे। 

  5. कांग्रेस भवन पर तख्ती लेकर पहुंचे थे विधायक

     

    विरोध प्रदर्शन को लेकर कांग्रेसी विधायकों में काफी उत्साह था। वह सुबह 9 बजे से ही हाथों में नारे लिखी तख्ती लेकर कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय राजीव भवन पहुंच गए। काफी देर इंतजार के बाद जब बैलगाड़ी नहीं आई तो उन्होंने साइकिल से ही चलने की बात कह दी। 

  6. तब रमन सिंह साइकिल से गए थे विधानसभा

     

    नेताओं के विरोध का यह तरीका नया नहीं है। जब भी चुनाव का समय करीब आता है तो विरोध का तरीका आकर्षक और बढ़ जाता है। पूर्व में जब केंद्र में यूपीए की सरकार थी और पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े तो मुख्यमंत्री रमन सिंह अपने विधायकों और मंत्रियों के साथ साइकिल से विधानसभा पहुंचे थे।

     

     

    कंटेंट/फोटो : कौशल स्वर्णबेर/भूपेश बघेल

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

Recommended

Advertisement