Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

बयान/ भाजपा विधायक बोले- करपात्री जी पर गोली चलवाने और गोहत्या कराने वाले आज भगवान राम की बात कर रहे हैं

Dainik Bhaskar | Sep 12, 2018, 07:44 PM IST
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 07:44 PM IST

भोपाल। भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि गोवध रोकने के लिए दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे करपात्री महाराज और गो-सेवकों पर प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने गोलियां चलवा दी थीं। केरल में कांग्रेस कार्यकर्ता खुलेआम गाय की हत्या करते हैं। तब कांग्रेस के दिग्गज नेता कुछ नहीं बोलते। मध्य प्रदेश में चुनाव आते ही इन्हें गाय और भगवान राम याद आ रहे हैं। रामेश्वर ने कहा कि कांग्रेस के ये नेता रावण की उन औलादों की तरह हैं जो राम राज्य की बात कहें। दरअसल, कांग्रेस ने21 सितंबर से प्रदेश में राम वन गमन यात्रा निकालने की घोषणा की है। इसके बाद प्रदेश की राजनीति गरमा गई।

बुधवार को रामेश्वर शर्मा मीडिया से बातचीत कर रहे थे। इस दौरान उनसे कांग्रेस की राम पथ गमन यात्रा के बारे में पूछा गया। उन्होंने कहा कि चुनाव आते ही कांग्रेस के नेता मंदिर जाने लगे हैं। उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी कैलाश मानसरोवर यात्रा करके लौटने का दावा कर रहे हैं। इन्हीं की दादी इंदिरा गांधी ने अपने शासन काल में करपात्री महाराज के साथ दिल्ली में गाे-हत्या रोकने के लिए प्रदर्शन कर रहे साधु-संतों पर गोलियां चलवाई थी। सैंकड़ों साधु-संत मारे गए थे। आज कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ प्रदेश में सत्ता आते ही 36 हजार से ज्यादा गोशालाएं खोलने की बात कह रहे हैं।

सत्ता का हरण करना चाहते हैं कांग्रेस नेता

शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के नेता साधु का रुप धारण कर प्रदेश की सत्ता का उसी तरह हरण करना चाहते हैं जैसे रावण ने माता सीता का छल पूर्वक हरण किया था। यहवही कांग्रेसी हैं जिनके कार्यकर्ता केरल में खुलेआम गो-हत्या कर मांस खाते हुए दिखे थे। राम वन गमन पथ पर राजनीतिक यात्रा निकालना उसका पाखंड का एक नमूना है।

भाजपा का था मुद्दा हथियाने की कोशिश

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने मंगलवार को प्रदेश में राम वन गमन मार्ग से कांग्रेस की यात्रा निकालने की घोषणा की थी। कांग्रेस की यहयात्रा खुले रथ में निकलेगी और इस पर साधु-संत सवार रहेंगे। असल में राम पथ गमन मार्ग को तीर्थ स्थल के रूप में विकसित करने की घोषणा मुख्यमंत्री ने 2007 में की थी। प्रदेश सरकार ने 11 साल बाद भी इस पर कुछ नहीं किया। दिग्विजय सिंह ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी के लोग गाय के नाम पर चंदा वसूली करते हैं। उनके मुख्यमंत्री के कार्यकाल के दौरान प्रदेशभर गौसंर्वधन बोर्ड बनाया गया और गो-शालाएं खोली गईं।