Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

विरोध/ SC/ST एक्ट का विरोध कर रहे देवकीनंदन गिरफ्तार, बोले- ये लोकतंत्र की हत्या है



  • देवकीनंदन बोले- हम सरकार को दो महीने का समय दे रहे हैं, इसके बाद जो होगा वो सब लोग देखेंगे.
  • अगर समाज किसी कानून से बंटेगा तो सारी पार्टियों और सारे सांसदों से कहता हूं कि इस पर विचार करें. 
Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 07:51 PM IST

आगरा. कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर को पुलिस ने नजरबंद कर लिया है। उन्हें प्रेसवार्ता करने से रोका गया। इससे नाराज कथावाचक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से आजाद भारत में प्रेसवार्ता करने को लेकर सवाल खड़े किए हैं। हालांकि कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर ने प्रेसवार्ता की। पत्रकारों के सामने अपनी मांग रखी। इसी बीच मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल पहुंच गया। उन्हें पुलिस लाइन ले जाने की सूचना है।

 


एससीएसटी एक्ट के विरोध में कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर की सभा खंदौली के एक गांव में मंगलवार को प्रस्तावित थी। जिला प्रशासन से अनुमति नहीं मिलने पर सभा स्थगित कर दी गई थी। देवकीनंदन ठाकुर खंदौली नहीं पहुंचकर आगरा पहुंचे और दोपहर 2 बजे कमलानगर सेंट्रल बैंक रोड स्थित होटल टेंपटेशन में प्रेसवार्ता की। इस बीच पुलिस ने उन्हें होटल में ही नजरबंद कर लिया। कथावाचक ठाकुर और पुलिस के बीच काफी कहासुनी हुई।

कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर की पीड़ा निकल के सामने आ गई। उन्होंने मीडिया से कहा कि सीएम योगी संत हैं और पीएम मोदी संत से कम नहीं है। उनके राज में कथाकारों के बोलने पर पाबंदी लगाई जा रही है। आजाद भारत में प्रेसवार्ता करना गुनाह हो गया है।

उन्हें कानून का सहयोग करने की बात कही और खंदौली जाने से इंकार किया। इसके बाद भी पुलिस की ज्यादती से परेशान दिखे। अमित पाठक ने बताया कि,उन्हें और उनके समर्थकों को गिरफ्तार करके पुलिस लाइन ले गई है। यहां से कुछ घंटे बाद उन्हें रिहा कर दिया गया है। एसएसपी आगरा  

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें