Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

तलाकशुदा महिला ने अच्छा पति पाने के लिए प्रेमी के साथ मिल उसके दोस्त का बच्चा उठाया, बलि देने से पहले दोनों गिरफ्तार

गौतम मुकेश | Jun 26, 2018, 04:40 AM IST

आरोपी महिला तरनतारन और प्रेमी लुधियाना का, बच्चे को सकुशल परिवार के हवाले किया

सिम्बोलिक इमेज
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

लुधियाना.तलाकशुदा महिला अच्छा पति पाने के लिए बच्चे की बलि देना चाहती थी। जिसके चलते महिला ने डेहलों के निकट साइया कलां से अपने प्रेमी के साथ मिल कर उसके पुराने दोस्त का ढाई साल का बेटा किडनैप कर लिया। महिला बच्चे की बलि देने की तैयारी कर रही थी तो उसे पुलिसने प्रेमी समेत गिरफ्तार कर लिया। महिला ने बच्चे को निकट ही गांव में अपनी बहन के पास छुपाया हुआ था। पुलिस ने बच्चे को सकुशल बरामद कर परिवार के हवाले कर दिया। आरोपी चंदन तिवाड़ी उर्फ पिंजू उर्फ अमन तिवाड़ी ग्यासपुरा इलाके के न्यू गगन नगर का व महिला परविंदर कौर तरनतारन इलाके की है।

एक साल पहले हो गया था तलाक, नौकरी के दौरान परविंदर के चंदर से बने संबंध

तरनतारन की रहने वाली पररविंदर कौर की शादी अमृतसर में एक युवक के साथ हुई थी। लेकिन उसका 1 साल के बाद तलाक हो गया तो वह घर छोड़ कर चली गई और उसके मां-बाप ने बेदखल कर दिया। जिस पर परविंदर चंडीगढ में एक होटल में काम करने लगी। वहीं चंदन अपने मां-बाप और बहन के साथ गांव साइयां कला में रहता था। चंदन का पिता घरेलु विवाद के चलते वापस यूपी में वापस गांव चला गया। चंदन अपनी मां व बहन को लेकर ग्यासपुरा में रहने लगा। उसकी मां भी उसी होटल में नौकरी करने के लिए चंडीगढ चली गई, जहां पर परविंदर कौर काम करती थी। आपस में जानपहचान होने पर परविंदर की पहचान चंदन से हो गई और दोनों के संबंध बन गए। परविंदर कौर अक्सर ग्यासपुरा में आकर चंदन के पास रहने लगी। पुलिस के अनुसार परविंदर ने पूछताछ के दौरान बताया कि वह किसी साधू के पास गई तो उसने कहा था कि अगर अच्छा पति पाकर सुखद जीवन व्यतीत करना है तो किसी बच्चे की बलि दे दो। वह काफी समय तक बच्चा ढूढ रही थी तो उसने चंदन से बात की।

पानी पीने के बहाने दोनों दोस्त के घर गए और बच्चा उठा ले गए

गांव साइया कलां के बच्चे के मानिक चौधरी ने बताया कि 18 जून को उसका एक दोस्त चंदन तिवाड़ी उसके घर आया था और उसके साथ एक महिला भी थी। उस समय वह खुद काम पर गया हुआ था। उसकी माता बहन के घर गई थी। उसके बर्जुग पिता व उसकी पत्नी घर पर थे। चंदन ने बहाने से उसकी पत्नी को सामान लाने भेज दिया और बाद में उसके पिता बनारसी दास को अंदर से पानी लाने के लिए कहा। बर्जुग होने के कारण पानी लाने में पिता को देरी हो गई। जब वह वापस आए तो बाहर खेल रहा उसका बेटा शिवम गायब था और वह दोनों भी चले गए थे। जब वह मोटरसाइकिल पर जा रहे थे तो उसकी पत्नी ने उन्हें देख भी लिया। बच्चा न होने का पता चलते ही वह घर आया और बच्चे की तलाश की। निकट ही एक फैक्ट्री में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में भी दोनों आरोपी बच्चे को ले जाते हुए दिखाई दिए। जिस पर उन्होंने पुलिस को सूचित किया।