Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

छलका मुलायम का दर्द भावुक होकर बोले, शायद मरने के बाद हो मेरा सम्मान, जिंदा रहते कोई सम्मान नहीं करता

Dainikbhaskar.com | Aug 26, 2018, 11:40 AM IST

समाजवादी चिंतक भगवती सिंह के 86वें जन्मदिन समारोह में बोले। मुलायम ने बात आगे बढ़ाई-'लोहिया के साथ भी ऐसा ही हुआ था।

सपा के संस्थापकों में शामिल रह
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव शनिवार को भावुक हो गए। पार्टी में अपनी उपेक्षा को लेकर उन्होंने कहा- आज मेरा कोई सम्मान नहीं करता, शायद मेरे मरने के बाद लोग ऐसा करें। लोहिया के साथ भी ऐसा ही हुआ था। वे कहा भी करते थे कि जिंदा रहते कोई सम्मान नहीं करता। इस पर भाजपा ने उन पर तंज कसते हुए कहा कि उन्होंने कहा जैसा किया है वैसा उनके सामने आ रहा है।
मुलायम सिंह शनिवार को सपा के संस्थापक रहे भगवती सिंह के जन्मदिन कार्यक्रम में पहुंचे थे। यहीं उन्होंने यह बात कही। मुलायम के बयान पर उत्तरप्रदेश के भाजपा प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने कहा, "जिन्होंने कारसेवकों पर गोलियां चलवाई हों और मुस्लिम तुष्टिकरण की राजनीति करते हों, उनका सभी सम्मान नहीं कर सकते। उनके बेटे को उनका सम्मान जरूर करना चाहिए। जिस बेटे को इन्होंने उत्तरप्रदेश की सत्ता तश्तरी में परोस कर दी। दुर्भाग्य है उस बेटे ने उनका अपमान करते हुए उन्हें सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटा दिया। आज बेटे के द्वारा इस तरह हटाए जाने से खुद को अपमानित महसूस कर रहे हैं। जब बोया पेड़ बाबुल का तो आम कहां से होय?"

शिवपाल ने कहा- मैं तो नेताजी का सम्मान करता हूं :भगवती सिंह के जन्मदिन कार्यक्रम में शिवपाल यादव भी पहुंचे थे। उन्होंने मुलायम सिंह के बयान पर कहा, ''मैं तो नेताजी का सम्मान कर रहा हूं, जो उनका सम्मान नहीं कर रहा है उसको करना चाहिए।''शिवपाल ने यह भी कहा, ''मुझे पार्टी में जिम्मेदारी नहीं मिल रही है। इंतजार करते-करते डेढ़ साल हो चुका है। आखिर कितनी उपेक्षा बर्दाश्त की जाए।'' सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भगवती सिंह को शुभकामना पत्र भेजा।