Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

फैक्टरी मालिक की पत्नी की हत्या के मामले में प्रेम प्रकरण की आशंका

विवाहिता के साथ किसी प्रकार की शारीरिक छेड़छाड़ नहीं की गई।

Dainikbhaskar.com | Sep 08, 2018, 04:02 PM IST

वडोदरा। शहर के तरसाली-सुशेन रोड पर स्थित सोसायटी में शुक्रवार को दिन-दहाड़े हुई फैक्टरी मालिक की पत्नी की हत्या के मामले में पुलिस ने आशंका व्यक्त की है कि मामला प्रेम प्रकरण का हो सकता है। हत्या किसी बहुत ही करीबी ने की है। इसके अलावा महिला के साथ किसी भी तरह की शारीरिक छेड़छाड़ भी नहीं की गई है। घर पर प्लबिंग का काम चल रहा था, इसका उठाया फायदा…

 

फैक्टरी मालिक के घर पर प्लबिंग का काम चल रहा था, इससे कारीगर रोज काम करने के लिए घर आते। शुक्रवार को सारे कारीगर कहीं और काम करने चले गए, इससे हत्या के आरोपी ने इसका फायदा उठाया। पुलिस का मानना है कि फैक्टरी मालिक की पत्नी कुंजल की हत्या में घर का कोई करीबी व्यक्ति शामिल है। डीसीपी क्राइम जयपाल सिंह के अनुसार कुंजल की हत्या जिस चाकू से की गई, वह घर का मामूली सब्जी काटने वाला चाकू था। हत्या के पहले दोनों में विवाद हुआ होगा। जिससे आवेश में आकर कुंजल की हत्या कर दी गई। आरोपी हत्या के इरादे से नहीं अाया था।

 

हत्या के बाद हुआ होगा भूल का अहसास

जाडेजा के अनुसार हत्या के बाद आरोपी को अपनी भूल का अहसास हुआ होगा, इसीलिए उसने लाश को बिस्तर पर लिटा दिया और चाकू तकिए के नीचे छिपा दिया। बाद में एक धारदार चाकू बिस्तर के नीचे मिला। एफएसएल की रिपोर्ट से यह साफ हो गया कि कुंजल के साथ किसी प्रकार की शारीरिक छेड़छाड़ नहीं की गई है। पुलिस इस मामले में प्रेम प्रकरण का सुराग खोजने में लगी है। इसके लिए मोबाइल के डिटेल निकलवा रही है।

 

मैं जब घर पहुंचा, तो कुंजल की लाश बिस्तर पर थी

कुंजल की बड़ी सास सविता बेन पंचाल ने बताया कि कुंजल बेटे धैर्य को स्कूल छोड़कर रोज घर आती थी। शुक्रवार की सुबह भी वह साढ़े 9 बजे धैर्य को लेने स्कूल के लिए निकली थी, पर वह स्कूल नहीं पहुंच पाई। 11 बजे स्कूल से मुझे फोन आया कि धैर्य को लेने कोई नहीं आया है। इससे मैं 11.30 बजे घर पहुंची, पहले तो दरवाजा खटखटाया, किसी के न खोलने पर मैंने दरवाजे को धक्का दिया, जिससे वह खुल गया। अंदर जाकर  मैंने देखा कि कुंजल की लहूलुहान लाश बिस्तर पर पड़ी थी। यह देखकर मैं चीखा, जिससे आसपास के लोग जमा हो गए।

 

बेटी के साथ भोजन नहीं कर पाए उसके पिता

गुरुवार को मेरी बेटी कुंजल घर आई थी। पर काम के सिलसिले में बाहर था। रात 8 बजे जब घर पहुंचा, तो उसके पहले वह जा चुकी थी। कुंजल ने मुझसे कहा था कि पापा, आप घर आओ, आपके साथ भोजन करना है। कई दिनों से हमने साथ-साथ भोजन नहीं किया है। अफसोस है कि उसके साथ भोजन भी नहीं कर पाया। नयन पांचाल, कुंजल के पिता।

 

 

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें