Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

घोषणा/ महिला कर्मचारियों को 730 दिनों का चाइल्ड केयर लीव, कॉलेज-विवि के शिक्षकों को सातवां वेतनमान

Dainik Bhaskar | Sep 12, 2018, 02:05 AM IST
मुख्यमंत्री रमन सिंह (फाइल फोटो)
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

पीएम मोदी ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय 3000 से 4500 रु. किया

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2018, 02:05 AM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ की सभी महिला सरकारी कर्मचारियों को 730 दिनों का चाइल्ड केयर अवकाश मिलेगा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने मंगलवार को रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय में प्रोफेसरों के सम्मान समारोह में ऐलान किया कि केंद्र सरकार के समान राज्य की महिला कर्मचारियों को बच्चों की देखभाल के लिए अवकाश दिया जाएगा।

राज्य में अभी 35 हजार से अधिक महिला कर्मचारी हैं। उन्हें अब तक छह माह की मातृत्व अवकाश की पात्रता थी। मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद अब इस बारे में सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा आदेश जारी किया जाएगा।संकेत हैं इस पर आचार संहिता लागू होने के पहले जारी कर दिया जाएगा। चाइल्ड केयर लीव बढ़ाने के संबंध में राज्य महिला आयोग की ओर से भी प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा गया था।

समारोह में प्रदेश के सरकारी कॉलेजों, विश्वविद्यालयों और शतप्रतिशत अनुदान प्राप्त अशासकीय कॉलेजों के शिक्षकों के लिए सातवें वेतनमान की घोषणा की है। 1 जनवरी 2016 से इसका लाभ दिया जाएगा। उन्हें इसका एरियर्स भी दिया जाएगा। इससे 2800 प्रोफेसरों को नया वेतनमान मिलेगा।

इस अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय, उच्च शिक्षा विभाग के सचिव एसके जायसवाल, रविवि के कुलपति केएल वर्मा, बिलासपुर यूनिवर्सिटी के कुलपति जीडी शर्मा भी मौजूद थे। महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडेय ने कहा कि सरकार के इस फैसले से महिलाओं को काफी राहत मिलेगी।

केंद्र सरकार ने भी बढ़ाया मानदेय :केंद्र सरकार ने देशभर के आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के मानदेय में केंद्र के हिस्से में वृद्धि करते हुए आशाकर्मियों की प्रोत्साहन राशि बढ़ाकर दुगुना करने तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय 3000 रुपए से बढ़ा कर 4500 रुपए करने का फैसला किया है। राजनांदगांव में मंगलवार को आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से नरेंद्र मोदी एप एवं वीडियो लिंक के माध्यम से संवाद के दौरान प्रधानमंत्री ने बताया कि जिन आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय 2250 रुपए था, उन्हें अब 3500 रुपए मिलेगा।