Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

सुपर कार लेम्बोर्गिनी/ इटली के डिजाइन और जर्मन इंजीनियरिंग का कमाल है ये कार, 55 साल से है दुनिया में शान की सवारी

Dainik Bhaskar | Sep 29, 2018, 08:12 PM IST
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

ऑटो डेस्क। लग्जरी और सुपर कार बनाने के लिए मशहूर इटालियन कार निर्माता कंपनी लेम्बोर्गिनी सेंट अगाटा बोलोनीस के छोटे से शहर में स्थित है। कंपनी है जिसकी स्थापना 1963 में हुई थी इस कंपनी का स्वामित्व फॉक्सवैगन के पास है। अपनी तेज रफ्तार और खूबसूरत कारोंके लिए पहचानी जाने वालीलेम्बोर्गिनी लग्जरी होने के साथ वर्ल्ड की मोस्ट एक्सपेंसिव कारों की कैटेगरी में आती है।इसलिए कुछ ही लोग इस कार को खरीदेन के सपना पूरा कर पाते हैं। भारत में कंपनी के सिर्फ तीन ही आउटलेट है जो दिल्ली,मुंबई और बेंगलुरू में हैं। कंपनी की सबसे पहलीकार 350 GTV थी जिसे 1963 में एक ऑटो एक्सपो में प्रदर्शित किया गया है जिससे बाद से इसकी लोकप्रियता बढ़ती चली गई।Advertisement

लेम्बोर्गिनी के बारे में कुछ खास तथ्य

  1. 2008 में कंपनी ने सबसे ज्यादा कारों लगभग 2,430 यूनिट्स का प्रोडक्शन किया। ,जिसमें से 1800 कारें Gallardo थी और बाकी की 630 कारें कंपनी के फ्लैगशिप मॉडल Murcielago था। Murcielago सिर्फ 3.4 सेकंड्स में 100 की रफ्तार पकड़ लेती है जिसकी टॉप स्पीड है 340 kmph इसके बाद Murcielago का नया वर्जन Murcielago SV बाजार में आया जिसकी कीमत 3 लाख यूरो यानी लगभग 2.5 करोड़ रुपए। इस कार को 'सुपर फास्ट' के नाम से भी जाना जाता है Murcielago SV को लगभग 130 लोगों द्वारा हाथों से बनाया जाता है। दरवाजे और खिड़कियों को छोड़कर पूरी कार को कार्बन फाइबर से बनाया गया है। लेम्बोर्गिनी के अनुसार फेरारी की कारें अच्छी थी पर ज्यादा शोर करती थी और एक सही रोड कार के अनुसार नहीं बनी थी, जिसकी वजह से उन्हें दोबारा प्रयुक्त हुई खराब इंटीरियर वाली ट्रैक कारों के रूप में जाना जाता था। फारूषियो लेम्बोर्गिनी, जो स्वयं वृष राशि के थे, उन चमत्कारी मिउरा जानवरों से इतने प्रभावित हुए कि उन्होनें अपनी जल्द ही बनने वाले वाहनों के लिए उग्र सांड को प्रतीक के रूप में अपनाने का निर्णय लिया। हाल ही में कंपनी ने अपनी एक SUV Urus को लॉन्च किया है। जिसे ग्लोबल लॉन्च के 38 दिनों के बाद भारत में पेश किया है। लैम्बोर्गिनी की यह SUV महज 3.6 सेकेंड में 0-100 Kmph की रफ्तार पकड़ सकती है और यह 305 किलोमीटर प्रति घंटे की टॉप स्पीड पकड़ सकती है। इस रफ्तार के साथ यह दुनिया की सबसे तेज प्रॉडक्शन SUV है। लेम्बोर्गिनी का दो Gallardo कारों को इटली पुलिस भी इस्तेमाल करती है। इस कार से ऑर्गन ट्रांसप्लांट वाले मरीज को समय पर ऑर्गन पहुंचाने के लिए किया जाता है। Advertisement