Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

धर्म/ गणेश चतुर्थी कल, महाराष्ट्र भवन में दस दिन उत्सव



चतुर्थी तिथि आज 4:01 से कल दोपहर 2:52 तक

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 09:26 AM IST

चंडीगढ़ 
भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि में भगवान श्री गणेश का जन्म माना गया है। इस तिथि को सिद्धिविनायक तिथि भी कहते हैं। अब की बार चतुर्थी तिथि 13 सितंबर को है। 13 सितंबर को भगवान श्री गणेश की स्थापना की जाएगी। इस दिन श्रद्धालु पूजा करते हैं।

 

देवालय पूजक परिषद के प्रेसिडेंट पंडित ईश्वर चंद्र शास्त्री का कहना है कि चतुर्थी तिथि 12 सितंबर को दोपहर बाद 4:01 पर प्रारंभ होगी और 13 सितंबर को दोपहर बाद 2:52 तक रहेगी। 

 

गणेश स्थापना का शुभ मुहूर्त दोपहर 11:02 बजे से प्रारंभ होगा आैर 1:31 तक का समय रहेगा। ‘ओम गं गणपतये नमः’’ इस मंत्र से और अन्य स्तोत्रों से भगवान पूजा व स्तुति करें। भगवान श्री गणेश सिद्धि और बुद्धि के प्रदाता हैं और विघ्न विनाशक हैं।

 

राहुकाल दोपहर 1:30 बजे से 3:00 बजे तक रहेगा इस समय के दौरान स्थापना ना करें। भगवान गणपति जी की पूजा में हरी ध्रूव और मोदक अवश्य अर्पित करें। 

 

7 फीट के ईको फ्रेंडली गणेश जी होंगे
श्री सनातन धर्म मंदिर सेक्टर-46 में गणेश उत्सव 12 से 15 सितंबर तक आयोजित किया जाएगा। एकता उत्सव मित्र मंडल के कार्यकर्ता अनीश गुप्ता ने बताया कि गणेश चतुर्थी पर 12 सितंबर बुधवार को 4 बजे सेक्टर-47 से 7 फुट के गणेश की प्रतिमा के साथ दो रथ को शोभायात्रा और कलश यात्रा के साथ सेक्टर-46 में लाया जाएगा।

 

यहां पर शाम 7 बजे गणेश की प्रतिमा लाई जाएगी। 13 सितंबर वीरवार को सुबह 9 बजे मंत्रोच्चारण के साथ गणपति बप्पा को मंदिर में स्थापित किया जाएगा। यहां पर तीन दिन सुबह-शाम महाआरती की जाएगी। सुबह 11 से दोपहर 1 बजे तक महिला संकीर्तन मंडल द्वारा कीर्तन किया जाएगा।

 

शाम को रोजाना 5 से 7 बजे तक 4 से 14 साल तक के बच्चों की प्रतियोगिताएं  डिवोशनल फैंसी ड्रेस, ड्राइंग आदि आयोजित की जाएंगी। 8 से 10 बजे तक भजन संध्या से गणपति की महिमा का व्याख्यान किया जाएगा।

 

21 को मराठी फूड फेस्टिवल... महाराष्ट्र  के गांव पेण से लाई गई साढ़े चार फुट की गणेश की प्रतिका खास मिट्टी से तैयार की गई है जो पानी लगते ही घुल जाएगी। सेक्टर-19 के महाराष्ट्र भवन के प्रेसिडेंट एमबी साने ने बताया कि  इको फ्रेंडली गणेश की प्रतिमा को 13 सितंबर को शाम 5 बजे मंत्रोच्चचारण  के साथ स्थापित किया जाएगा। 8 बजे भजन संध्या में संध्या तेलंग भजनों की प्रस्तुति देंगी। 15 सितंबर को सुगम संगीत शाम को 8 बजे होगा।


16 सितंबर को शोकेस ऑफ सेमी क्लासिकल एंड कंटेपरेरी कथक डासेंज पल्लवी पींगे, भवन में ये उत्सव 13 से 23 तक आयोजित किया जाएगा।

 

 महाराष्ट्र फूड फेस्टिवल 21 सितंबर रात को 8 बजे होगा जिसमें 20 स्टॉल होंगे यहां पर लोगों को मराठी फूड खिलाया जाएगा। 
 

 

स्वास्तिक बनाओ...
गुप्ता का कहना है कि इस आयोजन में मान्यता के मुताबिक इस मंदिर में दर्शन के बाद जो भक्त गणेश जी के चौकी के सामने स्वास्तिक का निशान बनाएगा उसकी हर मनोकामना पूर्ण होगी।

 

15 सितंबर को दोपहर 1.30 बजे विसर्जन आरती की जाएगी। उसके बाद शोभायात्रा में 7 घोड़े, 21 बैंड मास्टर, 4 ऊंट और 2 ट्राले होंगे। 46 के मंदिर से ये शोभायात्रा सेक्टर-29 के श्री सिद्ध बाबा बालक नाथ मंदिर में पहुंचेंगी उसके बाद यहां से घग्गर में विसर्जन किया जाएगा।

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

टॉप न्यूज़और देखें

Advertisement

बॉलीवुड और देखें

स्पोर्ट्स और देखें

Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जीवन मंत्रऔर देखें

राज्यऔर देखें

वीडियोऔर देखें

बिज़नेसऔर देखें