Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

हार्दिक का 20 किलो घट गया वजन यशवंत और शत्रुघ्न ने की मुलाकात

Dainikbhaskar.com | Sep 05, 2018, 01:19 PM IST

पुलिस की तैनाती को लेकर दायर याचिका पर हाईकोर्ट सुनवाई करेगा

शत्रुघ्न सिन्हा-यशवंत सिन्हा
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

अहमदाबाद। पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति (पास) के नेता हार्दिक पटेल का आमरण अनशन मंगलवार को 11 वें दिन भी जारी रहा। उनका वजन 20 किलोग्राम तक कम हो गया है। हार्दिक से पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा और भाजपा के बागी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा के अलावा भाजपा से पिछले साल त्यागपत्र देने वाले महाराष्ट्र के लोकसभा सांसद नाना पटोले और गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री सुरेशभाई मेहता ने भी मुलाकात की। हार्दिक का आंदोलन देश भर में फैलेगा...

यशवंत सिन्हा ने हार्दिक के मुद्दों को सही ठहराते हुए कहा कि अब उनके आंदोलन को केवल गुजरात तक ही सीमित न रख कर देशभर में फैलाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि उन्हें इस बात को देख कर संतोष हुआ है कि लंबे आंदोलन और 20 किलो वजन गंवाने के बाद भी हार्दिक का स्वास्थ्य उन्हें अनशन करने की इजाजत दे रहा है।

हार्दिक की मांग न्यायोचित-शत्रुघ्न सिन्हा

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि हार्दिक की मांग न्यायोचित है। सरकार को उनसे बातचीत करनी चाहिए। उन्होंने भाजपा के इस आरोप का कि हार्दिक का आंदोलन कांग्रेस प्रेरित है, सिरे से खारिज करते हुए कहा कि ऐसा नहीं है और यह सर्वदल प्रेरित है। हार्दिक के लंबे उपवास को लेकर समाज तो चिंतित है पर ना तो गुजरात और ना ही केंद्र की भाजपा सरकार इसको लेकर थोड़ी भी चिंतित दिख रही है। यह भी सवाल उठता है कि अगर अन्य भाजपा शासित राज्यों में किसानों का कर्ज माफ हुआ है तो गुजरात में ऐसा क्यों नहीं हुआ।

पाटीदार संस्थाएं हार्दिक के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित हैं : सीके पटेल

हार्दिक के मुद्दे पर राज्य की छह पाटीदार संस्थाओं की एक बैठक हुई। इसके बाद इनके प्रतिनिधि सीके पटेल ने पत्रकारों को बताया कि संस्थाएं हार्दिक के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित हैं। अगर हार्दिक प्रेस नोट के जरिए अपनी इच्छा प्रकट करें, तो संस्था के प्रतिनिधि उनकी ओर से सरकार से बातचीत कर सकते हैं और उनके उपवास का पारणा (समाप्त कराने की औपचारिक प्रक्रिया) भी कर सकते हैं।

सीधी बातचीत नहीं-गीता पटेल

इस बीच, पास की महिला नेता और हार्दिक की करीबी सहयोगी गीता पटेल ने कहा कि पाटीदार संस्था के साथ उन लोगों की कोई सीधी बातचीत नहीं हुई है। इसके प्रतिनिधि खुद मिलने आए थे और हार्दिक का समर्थन किया था। उनसे अनशन समाप्त करने के लिए पहल करने की कोई बात नहीं की गई थी। उधर, हाईकोर्ट ने हार्दिक के आवास के निकट पुलिस की तैनाती को लेकर दायर एक याचिका पर सुनवाई की और सरकार का जवाब मिलने पर पास का पक्ष जानने के लिए आज फिर सुनवाई करने का निर्णय लिया।

सौरभ पटेल ने कहा-कांग्रेस के इशारे पर आंदोलन कर रहे हैं हार्दिक पटेल

राज्य मंत्री सौरभ पटेल ने कहा कि तीन साल पहले जब हार्दिक ने आंदोलन शुरू किया था तभी यह कहा गया था कि यह कांग्रेस प्रेरित है और अब भी वह कांग्रेस के इशारे पर ही आंदोलन कर रहे हैं। उनसे मिलने वालों में भी अधिकतर कांग्रेस के नेता और मोदी विरोधी ही हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने गैर आरक्षित वर्ग के लाभ के लिए निगम और आयोग की स्थापना के अलावा भी कई कदम उठाए हैं।