Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

जन-जन के आराध्यदेव बाबा रामदेव का 6़34वां मेला विधिवत रूप से हुआ शुरू

DainikBhaskar.com | Sep 11, 2018, 09:48 AM IST

बाबा के जयकारों से गूंजा रामदेवरा, डेढ किलोमीटर तक लगी कतारें, आज करीब तीन लाख लोगों करेंगे बाबा की समाधी के दर्शन

जैसलमेर जिले के रामदेवरा में बाबा रामदेव की समाधि।
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

रामदेवरा (जैसलमेर). जन-जन के आराध्यदेव और सामाजिक समरसता के प्रतीक बाबा रामदेव का 634वां भादवा मेला मंगलवार को प्रभात वेला में विधिवत रूप से शुरू हुआ। इस अवसर पर गादीपति राव भोमसिंह तंवर, जिला कलेक्टर ओम कसेरा और पोकरण विधायक शैतानसिंह राठौड़ ने बाबा रामदेव की समाधि पर अभिषेक किया और मखमली चादर चढाई। इसके बाद मंगला आरती के साथ मेला शुरू हो गया।

जयकारों से गूंजा परिसर: अलसुबह तीन बजे मन्दिर परिसर से करीब डेढ किलोमीटर तक श्रद्धालुओं की लम्बी कतारें लग गई थी और हजारों यात्रियों ने अपने आराध्यदेव बाबा रामदेव की समाधि के दर्शनों की आस में रात्रि विश्राम भी कतारों में ही किया। इस दौरान तीन बजे मुख्य द्वार के खुलते ही सभी श्रद्धालुओं ने अन्दर प्रवेश किया। इस दौरान सम्पूर्ण समाधि परिसर में जयकारों से गूंज उठा।

इसके बाद राजस्थान, गुजरात,महाराष्ट्र,पंजाब,दिल्ली,हरियाणा सहित देशभर से आए श्रद्धालुओं ने कतारबद्ध होकर बाबा रामदेव की समाधि के दर्शन किए और पूजा अर्चना कर देश में अमन,चैन और खुशहाली की कामना की।

पैदल संघों से अटे रास्ते: कस्बे में जोधपुर,बीकानेर और जैसलमेर की तरफ से आने वाले मुख्य रास्तों सहित अन्य छोटे मोटे रास्तों पर हजारों की संख्या में पैदल श्रद्धालु आ रहे है। जिससे आज दूज के अवसर पर पूरे दिन श्रद्धालुओं की भारी चहल पहल रहेगी। पैदल के साथ साथ दण्डवत,मोटरसाइकिलों, बसों और रेलों के माध्यम से भी हजारों श्रद्धालु रामदेवरा पंहुच रहे है।

सुरक्षा के आवश्यक प्रबन्ध: पुलिस प्रशासन द्वारा मेला मैदान में सुरक्षा के आवश्यक प्रबन्ध किए गए है। पुलिस द्वारा मन्दिर में श्रद्धालुओं के प्रवेश, कतारों और निकासी में बेहतर व्यवस्था की गई है। पूरे मेला मैदान में 200 से अधिक सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं और करीब 2500 की संख्या में पुलिसकर्मी, आरएसी और होमगार्ड तैनात किये गये हैं। वहीं पुलिस प्रशासन द्वारा नियन्त्रण कक्ष में सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से नजर रखी जा रही है। इनके अलावा समाधि परिसर में निजी सुरक्षाकर्मी भी तैनात किये गये हैं तथा सादी वर्दी में अलग -अलग स्थानों पर पुलिसकर्मी संदिग्ध लोगों पर नजर रख रहे है।

समाधि पर दूध से अभिषेक किया गया।
बाबा की समाधि पर मखमली चादर चढ़ाई गई।
बाबा की समाधि के दर्शन करते श्रद्धालू।