Advertisement

Dainik Bhaskar Brings you the latest Hindi News

महर्षि दयानंद सरस्वती यूनिवर्सिटी/ वीसी सर्च कमेटी का गठन, जल्द लगेगी विवि के स्थाई कुलपति के नाम पर मोहर

Dainik Bhaskar | Sep 12, 2018, 11:46 AM IST
-- पूरी ख़बर पढ़ें --

  • सर्च कमेटी द्वारा राज्य सरकार आैर राजभवन को पांच नाम भेजे जाएंगे

अजमेर. महर्षि दयानंद सरस्वती (एमडीएस) यूनिवर्सिटी के स्थाई कुलपति के लिए वीसी सर्च कमेटी का गठन कर दिया गया है। चुनावी आचार संहिता लगने से पहले यूनिवर्सिटी के लिए स्थाई कुलपति के नाम पर मोहर लगेगी। सर्च कमेटी की बैठक होगी, जिसमें कुलपति के लिए नामों पर विचार विमर्श किया जाएगा।Advertisement

सीएम और राज्यपाल की सहमति पर होगी नियुक्ति

  1. यह शिक्षाविद् कमेटी में शामिल

    वीसी सर्च कमेटी में बोर्ड ऑफ मैनेजमेंट (बीआेएम) नॉमिनी के तौर पर प्रो. बीआर छीपा को शामिल किया गया है। जबकि स्टेट नॉमिनी के तौर पर प्रो. राकेश कोठारी, राज्यपाल के नॉमिनी के तौर पर प्रो. वेद प्रकाश आैर यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) के नॉमिनी के तौर पर डॉ. एसजी सक्सेना को सर्च कमेटी में शामिल किया गया है।

    Advertisement

  2. दौड़ में यह हैं शामिल

    एमडीएस यूनिवर्सिटी में कुलपति बनने की दौड़ में देशभर की कई यूनिवर्सिटीज के शिक्षाविद् शामिल हैं। राजस्थान यूनिवर्सिटी जयपुर, उदयपुर की मोहनलाल सुखाडिय़ा यूनिवर्सिटी, दिल्ली यूनिवर्सिटी, जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी सहित अन्य यूनिवर्सिटीज के शिक्षाविद् सहित कई प्राइवेट यूनिवर्सिटीज आैर संस्थानों के शिक्षाविद् इस दौड़ में शामिल हैं।

  3. यूनिवर्सिटी में कुलपति के तौर पर यह दे चुके हैं सेवाएं

    प्रो. रामबलि उपाध्याय, प्रो. कांता आहूजा, प्रो. पीएल चतुर्वेदी, प्रो. डीएन पुरोहित, प्रो. एमएल छीपा, प्रो. भागीरथ सिंह, प्रो. रूपसिंह बारेठ, प्रो. कैलाश सोडाणी आैर प्रो. विजय श्रीमाली महर्षि दयानंद सरस्वती यूनिवर्सिटी में स्थाई कुलपति के तौर पर सेवाएं दे चुके हैं।

  4. आवेदन की अंतिम तिथि है 15 सितंबर

    स्थाई कुलपति के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 15 सितंबर है। अध्यापन, शोध आैर किसी प्रशासनिक संस्थान में अनुभव रखने वाले शिक्षाविद् इसमें आवेदन के योग्य हैं। कुलपति पद के लिए प्राप्त आवेदनों की छंटनी होगी, इसके बाद योग्य आवेदनों पर विचार विमर्श किया जाएगा। सर्च कमेटी की बैठक होगी, जिसमें नामों पर विचार विमर्श किया जाएगा। यह बैठक सितंबर अंत तक या अक्टूबर के पहले सप्ताह में होगी। राज्य सरकार आैर राजभवन को पांच नाम भेजे जाएंगे। सीएम आैर राज्यपाल की सहमति पर कुलपति की नियुक्ति की जाएगी।